वर्ल्ड वेटलिफ़्टिंग चैंपियनशिप: 22 साल बाद चानू ने दिलाया भारत को गोल्‍ड

वर्ल्ड वेटलिफ़्टिंग चैंपियनशिप में भारत की मीराबाई चानू ने रिकॉर्ड बनाते हुए 48 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड जीता है. चानू ने रिकॉर्ड 194 किलो (स्नैच में 85 किलो और क्लीन ऐंड जर्क में 109 किलो) का वज़न उठाया है.
मल्लेश्वरी के बाद दूसरी वेटलिफ़्टर
यह उपलब्धि हासिल करने वाली मीराबाई भारत की केवल दूसरी वेटलिफ़्टर हैं. इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने 22 साल पहले भारत की पहली वर्ल्ड चैंपियन बनी थीं. मल्लेश्वरी ने लगातार दो साल 1994 और 1995 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में सोना जीता था.
अमरीका के अनाहेम में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में मीराबाई ने गोल्ड के लिए थाईलैंड की सुकचारोएन थुनया को हराया. थुनया ने 193 किलो वजन उठाया. जबकि तीसरे स्थान पर 182 किलो वजन के साथ कोलंबिया की अना सेगुरा रहीं.
अंंतर्राष्ट्रीय वेटलिफ़्टिंग फेडरेशन ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी.
मणिपुर की हैं चानू
इससे पहले 2014 में चानू ने ऑस्ट्रेलिया में आयोजित कॉमनवेल्थ सीनियर वेटलिफ़्टिंग चैंपियनशिप में इसी भार वर्ग में भारत के लिए सिल्वर जीता था.
लेकिन इसके बाद 2016 में आयोजित रियो ओलंपिक में चानू का प्रदर्शन बेहद ख़राब रहा था. तब स्नैच और क्लिन ऐंड जर्क में मिले कुल छह मौकों में एक बार भी उन्हें वजन उठाने में कामयाबी नहीं मिली थी. 23 वर्षीय चानू भारत के मणिपुर राज्य की रहने वाली हैं.
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने ट्वीट के जरिए चानू को बधाई दी. उन्होंने लिखा हमें आप पर गर्व है.
केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी चानू को बधाई दी.
महिला पहलवान विनेश फोगट ने ट्वीट किया, “भारतीय खेल के लिए शानदार दिन. चानू को वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने के लिए बधाई.”
भारत को ओलंपिक में दो बार मेडल दिलाने वाले सुशील कुमार ने ट्वीट किया, “वर्ल्ड वेटलिफ़्टिंग चैंपिनयशिप में गोल्ड जीतने पर मीराबाई चानू को बधाई, कर्णम मल्लेश्वरी के बाद केवल दूसरी वेटलिफ़्टर.”
-BBC