विश्व छड़ी दिवस: दृष्टिबाधित छात्रों ने किया जागरूकता कार्यक्रम

मथुरा। कल्याणं करोति कल्याण धाम द्वारा “विश्व छड़ी दिवस” (World Stick Day) के अवसर पर D. Ed विशेष शिक्षा – दृष्टि बाधिता छात्र छात्राओं द्वारा पोस्टर मेकिंग/कार्यक्रम के माध्यम से विश्व सफ़ेद छड़ी सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम किया गया।

इस अवसर पर प्राचार्य आर.पी.प्रजापति जी ने बताया क‍ि एक सफ़ेद छड़ी दृष्टिबाधित व्यक्ति के जीवन के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण है क्योंकि वह सफ़ेद छड़ी के द्वारा अपने आवागमन को सुचारू रूप से संचालित कर पाता है। दृष्टि बाधित व्यक्ति को सफ़ेद छड़ी आँख देने का कार्य करती है। जैसे एक सामान्य व्यक्ति अपने आँखों के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान जाता है, ठीक उसी प्रकार सफ़ेद छड़ी से दृष्टि बाधित व्यक्ति जा सकता है।

वरिष्‍ठ सहायक आचार्य अभिराम कुशवाहा ने बताया क‍ि सफ़ेद छड़ी के दो भाग होते है सफ़ेद और लाल, सफ़ेद रंग दृष्टि बाधित व्यक्ति के जीवन में शांति देने का कार्य करता है, और लाल रंग जोकि छड़ी के निचले हिस्से में होता है वह खतरे के निशान को दर्शाता है। यह सफ़ेद छड़ी अलग-अलग साइज़ और आकार के रूप में उपलब्ध है जो दृष्टि बाधित व्यक्ति अपने आवश्यकता के अनुरूप प्रयोग करता है।

सहायक आचार्य राशिद जमाल जी ने बताया की अगर हमें दृष्टिबाधित व्यक्ति की पहचान करनी हो तो ‘सफ़ेद और लाल निशान’ यही दृष्टि बाधितों की पहचान है अर्थात् सफ़ेद छड़ी के माध्यम से हम पहचान आसानी से कर सकते हैं।

इस अवसर पर संस्थान के बी.एड.एवं डी.एड.विशेष शिक्षा एवं डिप्लोमा इन आप्टोमेट्री के छात्र-छात्रों द्वारा विश्व सफ़ेद छड़ी दिवस पर स्लोगन एवं पोस्टर के माध्यम से जागरूकता दिवस बनाया गया।

इस अवसर पर बी.के.शुक्ला, अमरनाथ चतुर्वेदी, प्रगति शर्मा, किशन पाल सिंह, वीरेंदर सिंह, प्रकाश लोधी एवं सुनील पौरुष का इस दिवस पर सराहनीय योगदान रहा।
– Legend News

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *