वर्ल्ड आर्थराइटिस डे आज: साल 2025 तक दुनियाभर में पहले नंबर पर पहुंच जाएगा भारत

आर्थराइटिस यानी गठिया रोग के मामले में भारत साल 2025 तक दुनियाभर में पहले नंबर पर पहुंच जाएगा। यह बात ORG के सर्वे में सामने आई है। स्थिति यह है कि केवल लखनऊ के लोहिया संस्थान की ओपीडी में रोजाना 100 के करीब मरीज सिर्फ आर्थराइटिस के आ रहे हैं जिसमें 30% मरीज युवा हैं। युवाओं में तेजी से यह रोग फैल रहा है। इसकी मुख्य वजह भोजन में प्रोटीन की उचित मात्रा, विटमिन-डी, विटमिन-के और कैल्शियम की कमी है।
इसके अलावा सबसे अहम है लाइफस्टाइल में सुधार जिसके जरिए आर्थराइटिस समेत सभी तरह के जोड़ों के दर्द से बचा जा सकता है…
हाइपरटेंशन का सबसे ज्यादा असर ब्लड सर्कुलेशन पर पड़ता है और इसकी वजह से घुटनों में ऑक्सिजन और न्यूट्रिशन कम हो जाता है। इससे घुटनों के कार्टिलेज घिसने लगते हैं। इस कारण जोड़ों में दर्द शुरू हो जाता है। लोहिया संस्थान के डॉ. सुमित अवस्थी कहते हैं कि हमारी लाइफस्टाइल में तेजी से बदलाव आ रहा है। इसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। ऐसे में जरूरी है कि हम अपनी लाइफस्टाइल को बेहतर करें और रोगों से दूर रहें।
शरीर का वजन जितना ज्यादा होगा घुटनों पर उतना ही जोर पड़ेगा। ऐसे में हमें अपने शरीर का वजन नियंत्रण में रखना चाहिए। हमें अपनी लंबाई के हिसाब से अपने शरीर का वजन रखना चाहिए। ऐसा न करने पर हमारे मीडियल कम्पार्टमेंट (घुटनों के जोड़) पर असर पड़ता है। ऐसे में 60 से 70 प्रतिशत लोगों की हड्डियां तिरछी हो जाती हैं। इसके साथ ही घुटनों के कार्टिलेज भी खराब हो जाते हैं। महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा बढ़ जाता है।
मॉर्निंग वॉक जरूर करें। हड्डियों के लिए विटमिन डी बेहद अहम है लिहाजा दिन में बाहर निकलकर थोड़ी धूप जरूर लें। रोजाना थोड़ा व्यायाम करें।
लाइफस्टाइल में सबसे अहम बदलाव के तौर पर सुबह का नाश्ता सबसे अच्छा और हेवी करना चाहिए ताकि दिनभर एनर्जी बनी रहे और रात का खाना हल्का होना चाहिए। इसके अलावा पौष्टिक भोजन खाएं ताकि शरीर को कैल्शियम और प्रोटीन की उचित मात्रा मिले। जितना संभव हो जंक फूड से दूर ही रहें।
शरीर का वजन लंबाई के अनुरूप रखें। ज्यादा वजन होगा तो घुटनों पर जोर पड़ेगा और तकलीफ बढ़ जाएगी। वजन नियंत्रित रखें तो आपको जोड़ों के दर्द की समस्या नहीं होगी। जोड़ों का दर्द तभी होता है जब घुटनों की कार्टिलेज घिसने लगती है।
-एजेंसी