मथुरा रिफाइनरी पर मजदूरों की गेट मीटिंग

मथुरा। श्रमिकों की देशव्यापी हड़ताल के समर्थन में व‍िगत द‍िवस 8 जनवरी को पेट्रोलियम वर्कर्स यूनियन (असंगठित क्षेत्र ) की मथुरा रिफाइनरी यूनिट ने रिफाइनरी के मुख्यद्वार पर सभा कर के एकजुटता का प्रदर्शन किया ।
रिफाइनरी में ठेका प्रथा समाप्त करने की सरकार से मांग की गई और ठेकेदारों द्वारा किये जा रहे शोषण एवं उत्पीड़न को तत्काल रोकने को कहा गया । मुख्यद्वार पर मजदूरों ने लाल झंडे लहराते हुए प्रबंधतंत्र की मनमानी और हठधर्मिता को जमकर कोसा ।

यूनियन के अध्यक्ष कामरेड मधुवन दत्त चतुर्वेदी एडवोकेट ने अपने संबोधन में मोदी सरकार को मजदूर विरोधी बताया और कहा कि चंद पूंजीपतियों के हाथों में खेलकर यह सरकार देश को बर्बाद कर रही है। इंकलाबी नौजवान सभा के नेता सौरभ चतुर्वेदी ने मजदूरों को संबोधित करते हुए देश के सरकारी उपक्रमों को निजी पूंजीपतियों के हाथों बेचने के लिए मोदी सरकार को जमकर लताड़ा । उन्होंने कहा कि मोदी देश बेच रहे हैं।

यूनियन की कार्यकारिणी के अतिथि सदस्य जीसस चतुर्वेदी ‘उत्कर्ष’ ने यूनियन की ओर से प्रस्तुत 15 सूत्रीय मांगपत्र का वाचन किया । ठेका मजदूरों की समस्याओं का शीघ्र निस्तारण न होने पर आंदोलन को तीव्र करने की घोषणा यूनियन के मंत्री कामरेड गिर्राज ने की ।

इस अवसर पर सर्वश्री सतीश सिंह, दिनेश पंडित जी, वेद प्रकाश, प्रेमचंद, जनक सिंह, भिकम सिंह, गोपाल, कॉमरेड गिर्राज, सरदार सिंह, देव प्रकाश गोस्वामी और हरि सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *