भारत के इस राज्‍य की महिलाएं अकेले हजयात्रा में बनाएंगी रिकॉर्ड

तिरुवनंतपुरम। हाल ही में जारी किए गए सरकारी डेटा के मुताबिक इस साल भारत से सऊदी अरब हजयात्रा पर अकेले बिना किसी पुरुष साथी के जाने वाली महिलाओं में से 86% केरल की महिलाएं होंगी।
डेटा के मुताबिक अकेले जाने वाली 2,340 महिलाओं में से 2,011 केरल से हैं। यही नहीं, केरल में पुरुषों से ज्यादा महिलाओं ने हज पर जाने के लिए आवेदन दिया है।
पिछले साल बदले थे नियम
केरल से कुल 11000 यात्री जाने वाले हैं जिनमें से 6,959 महिलाएं हैं और 4,513 पुरुष। पिछले साल सरकार ने नियमों में बदलाव करते हुए 45 साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं को बिना किसी पुरुष साथी के जाने की इजाजत दी थी। इसका फायदा केरल की महिलाओं ने खूब उठाया है। पिछले साल भी अकेले जाने वाली 1340 महिलाओं में से 1124 महिलाएं केरल से थीं।
शिक्षा और लिंग अनुपात है वजह
केरल हज समिति के अधिकारी ने इस संख्या के पीछे शिक्षा और बेहतर लिंगानुपात को वजह बताया है। साल 2018-22 के लिए बनाई गई हज नीति के तहत महिलाओं को अकेले जाने की इजाजत है। इसे संदर्भ में मिले डेटा से पता चलता है कि बड़े राज्यों, जैसे उत्तर प्रदेश से 99 और पश्चिम से सिर्फ 39 महिलाएं अकेले हज को जाएंगी। तमिलनाडु से 37, महाराष्ट्र से 31, मध्य प्रदेश से 27, राजस्थान से 26 और कर्नाटक से 23 महिलाएं अकेले जाएंगी।
वहीं, दिल्ली से 12, बिहार से 9, असम से 8, झारखंड से 5 और छत्तीसगढ़ से 4 महिलाएं अकेले हज को जाएंगी। अकेले जाने वाली सबसे ज्यादा उम्र की महिला 87 साल की हैं। उनके अलावा एक महिला 80 और एक 82 साल की हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »