KD में सप्ताह भर वेंटीलेटर पर रह महिला ने दी कोरोना को मात

मथुरा। मंगलवार को KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में कोरोना संक्रमण पर विजय हासिल करने के दो ऐसे मामले सामने आए जो किसी चमत्कार से कम नहीं हैं। सप्ताह भर वेंटीलेटर पर रही एक महिला ने जहां कोरोना संक्रमण पर जीत हासिल की वहीं लम्बे समय से कैंसर पीड़ित होने के बावजूद एक व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर लौटा। मंगलवार को जैसे ही इन दोनों की रिपोर्ट नेगेटिव आई इनके परिजनों में खुशी का ठिकाना न रहा।

कोविड सेण्टर प्रमुख डॉ. गौरव सिंह ने बताया कि कोई 20 दिन पहले KD हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित एक महिला को भर्ती किया गया था। महिला की मरणासन्न स्थिति को देखते हुए उसका वेंटीलेटर पर रखकर इलाज किया गया। डाॅ. सिंह का कहना है कि अस्पतालों में वेंटीलेटर पर लेटे मरीज की जिन्दगी हमेशा खतरे में रहती है तथा उसके बचने की उम्मीद बहुत ही कम होती है क्योंकि मरीज को वेंटीलेटर पर तभी ले जाया जाता है, जब वह सांस लेना बंद कर देता है। KD हॉस्पिटल की बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं और डाक्टरों के अथक प्रयासों से महिला को नई जिन्दगी मिली है, यह मथुरा ही नहीं प्रदेश स्तर पर चिकित्सा क्षेत्र का एक बड़ा मामला है।

निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. एपी भल्ला का कहना है कि KD हास्पिटल के चिकित्सकों ने अब तक एक दर्जन से अधिक ऐसे व्यक्तियों को नई जिन्दगी दी है जिनकी हालत काफी नाजुक थी। डॉ. भल्ला ने बताया कि कोरोना संक्रमण वृद्ध लोगों के लिए जानलेवा माना जा रहा है बावजूद KD हाॅस्पिटल में अब तक 55 साल से अधिक 51 लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। स्वस्थ होकर लौटने वालों में पांच साल से कम उम्र के नौ बच्चे तथा 10 गर्भवती महिलाएं शामिल हैं। यहां की महिला चिकित्सकों ने दो कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं का सामान्य प्रसव कराने में भी सफलता हासिल की है। मेडिसिन विशेषज्ञ डाॅ. सौरभ सिंघल का कहना है कि यहां 30 डायबिटीज, 21 ब्लडप्रेशर, सात हृदय रोगी तथा आठ थाइराइड से पीड़ित लोगों को भी नई जिन्दगी मिल चुकी है। कोरोना संक्रमण पर विजय हासिल करने वालों में किडनी, फेफड़े आदि से पीड़ित लोग भी शामिल हैं।

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि के.डी. हास्पिटल कोरोना संक्रमित लोगों के साथ-साथ हर व्यक्ति के स्वस्थ जीवन के लिए प्रतिबद्ध है। यह खुशी की बात है कि यहां से अब तक लगभग पौने दो सौ कोरोना संक्रमित लोग स्वस्थ होकर अपने-अपने घरों को लौट चुके हैं। मैं डॉक्टर्स, नर्सेज तथा पैरा मेडिकल स्टाफ को बधाई देता हूं जिन्होंने वैश्विक महामारी के खिलाफ निडरता से अपने कर्तव्य और सेवाभाव का निर्वहन कर लोगों की जान बचाई है।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *