सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर होटलों का अवैध निर्माण हटवाने पहुंची महिला अधिकारी की गोली मारकर हत्‍या

शिमला। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में मंगलवार को एक अवैध ढांचे को तोड़ने गई महिला अधिकारी की होटल मालिक ने गोली मारकर हत्या कर दी। इस दौरान एक मजदूर घायल हो गया।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सोलन के कसौली में होटलों का अवैध निर्माण हटवाने पहुंची सहायक नगर नियोजन (एटीपी) अधिकारी शैल बाला की मौत हो गई।
प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस बल के सामने ही व्यवसायी ने करीब चार राउंड फायरिंग की जिसमें एक गोली एटीपी कसौली शैल बाला शर्मा के मुंह पर और एक लोक निर्माण विभाग के बेलदार गुलाब सिंह के सीने पर जा लगी। महिला अधिकारी की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद से आरोपी फरार है। सोलन के एसपी मोहित चावला ने कहा कि आरोपी हथियार के साथ जंगल में भाग गया। उसे पकड़ने की कोशिश पुलिस कर रही है और आरोपी पर 1 लाख का इनाम भी रखा गया है।
पुलिस ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर धरमपुर इलाके में कर्मचारियों ने जैसे ही कार्यवाही शुरू की, नारायणी गेस्ट हाउस के मालिक विजय कुमार ने कथित तौर पर हवा में दो चक्र गोलियां दागीं। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि इस दौरान एक गोली जाकर शैल बाला को लग गई और घटना स्थल पर ही उनकी मौत हो गई। मजदूर गुलाब सिंह के पेट में एक गोली लगी और वह घायल हो गया। बिजली विभाग के एक उपप्रखंड अधिकारी, संजय नेगी बाल-बाल बच गए।
जिला प्रशासन के अधिकारी कसौली इलाके में 13 होटलों एवं रिसॉर्ट्स में अवैध निर्माण ढहा रहे थे, और इसी दौरान यह घटना घटी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अधिकारी के निधन पर शोक जताया है और कहा कि आरोपी को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा तथा कानून के अनुसार उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा, 'राज्य में किसी भी कीमत पर कानून-व्यवस्था को बरकरार रखा जाएगा।'
बता दें कि सर्वोच्च न्यायालय ने कई होटलों एवं रिसॉर्ट्स में अवैध निर्माण को ढहाने के लिए 17 अप्रैल को आदेश दिया था। अवैध निर्माण तोड़ने आई प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस की टीम को देखकर कुछ होटल मालिकों ने खुद ही अवैध ढांचा ढहाना शुरू कर दिया। कुछ व्यवसायियों ने होटल स्वयं ही तोड़ने शुरू कर दिए तो कहीं पुलिस बल का प्रयोग करना पड़ा। जब टीम नारायणी गेस्ट हाउस मांडोधार पहुंची तो आरोपी विजय ने हंगामा शुरू कर दिया। देखते ही देखते व्यवसायी ने बंदूक निकाली और चार राउंड फायर कर डाले। 

हत्या पर सुप्रीम कोर्ट नाराज 
महिला अधिकारी की हत्‍या का शीर्ष अदालत ने संज्ञान लेते हुए कड़ी नराजगी जताई है। राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए कोर्ट ने कहा कि वह इस तरह की हिमाकत को बर्दाश्त नहीं करेगा। कोर्ट ने इस मामले में राज्य सरकार से पूरी रिपोर्ट मांगी है। अदलात गुरुवार को मामले की सुनवाई करेगी। 
कोर्ट ने आज महिला अधिकारी की हत्‍या का स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा कि लोग अगर इस तरह मारे जाते रहे तो वह आदेश पारित कर सकता है। कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा कि वह इस तरह की गंभीर घटना को अनदेखा नहीं कर सकता है। कोर्ट ने अफसर को सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराने पर राज्य सरकार को फटकार भी लगाई। 
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »