बिना किराया दिए ही सरकारी बंगलों पर काबिज हैं अधिकांश पूर्व मुख्‍यमंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अपने लिए आवंटित सरकारी बंगलों में बिना किराया जमा किए ही काबिज हैं। एक पूर्व मुख्यमं‌त्री पर एक साल का किराया बाकी है तो कई ऐसे भी हैं ज‍िनका कुछ महीने का किराया बकाया है।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राज्य सम्पत्ति विभाग इन पूर्व सीएम से बंगला खाली करवाने से पहले किराया जमा करने का नोटिस देने की भी तैयारी कर रहा है। जिन पूर्व सीएम ने मई-2018 तक का किराया नहीं जमा किया है, उन्हें बंगला खाली करने से पूर्व यह किराया भी जमा करना होगा।
मुलायम ने एक साल से नहीं दिया किराया
एसपी संरक्षक मुलायम सिंह यादव के नाम आवंटित बंगले (5, विक्रमादित्य मार्ग) का मासिक किराया 4,212 रुपये है। इस पर वॉटर टैक्स मिलाकर 4,290 रुपये किराया होता है। अगर तीन महीने किराया नहीं जमा होता है तो नोटिस के माध्यम से राज्य सम्पत्ति विभाग सूचित भी करता है। हालांकि, करीब एक साल से बंगले का किराया जमा नहीं हुआ है।
मई-2018 तक मुलायम सिंह यादव पर यह किराया बढ़कर 45,335 रुपये हो चुका है। 1-ए, माल एवेन्यू में रहने वाले पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी पर 25,149 रुपये और 2, माल एवेन्यू में रहने वाले कल्याण सिंह पर 18,419 रुपये किराया बकाया है। इसके अलावा, केंद्रीय गृह मं‌त्री राजनाथ सिंह ने भी छह महीने से किराया जमा नहीं किया है। उन पर 13,438 रुपये का बकाया है।
मायावती पर सबसे कम बकाया
सबसे छोटे बकाएदारों में एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीएसपी प्रमुख मायावती का नाम है। अखिलेश यादव पर दो महीने का 8,580 रुपये का बकाया है जबकि मायावती ने सिर्फ इसी महीने का किराया नहीं जमा किया है। उनका बाकी पूरा किराया जमा है।
ट्रस्ट के बंगलों पर भी लाखों का बकाया
पूर्व सीएम के साथ कई ट्रस्ट ने भी अपने नाम से बंगले आवंटित करवाए हैं। इनमें सबसे ज्यादा फायदा समाजवादी पार्टी ने उठाया। पहले मुलायम सिंह यादव ने लोहिया ट्रस्ट के नाम से विक्रमादित्य मार्ग पर ही बने पांच बंगलों में एक नंबर बंगला आवंटित करवा लिया। इसके बाद अखिलेश यादव जब सीएम बने तो उन्होंने समाजवादी पार्टी के दफ्तर के पीछे जनेश्वर ट्रस्ट के नाम से एक बंगला आवंटित करवाया।
पूर्व मंत्र‍ियों के नाम आवंट‍ित है बंगला
पूर्व मंत्री कुसुम राय ने माल एवेन्यू में महत्तम राय ट्रस्ट के नाम से एक बंगला आवंटित करवा रखा है जबकि पूर्व सीएम वीर बहादुर सिंह के बेटे फतेह बहादुर सिंह ने भी माल एवेन्यू में वीर बहादुर सिंह ट्रस्ट के नाम से बंगला आवंटित करवाया है।
सम्पत्ति विभाग ने नोटिस जारी क‍िया
इन बंगलों से बाजार दर से 72 हजार रुपये किराया लिया जाता है लेकिन किराया जमा न करने के कारण अब तक इन पर लाखों का बकाया हो चुका है। हालांकि, लोहिया ट्रस्ट और जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट हर महीने के हिसाब से किराया जमा करते आए हैं। जिन ट्रस्ट ने किराया जमा नहीं किया, उन्हें राज्य सम्पत्ति विभाग ने नोटिस जारी कर रखा है।
किन-किन पूर्व सीएम पर कितना बकाया 
मुलायम सिंह यादव—45,335 रुपये
अखिलेश यादव—8,580 रुपये
नारायण दत्त तिवारी- 25,149 रुपये
कल्याण सिंह- 18,419 रुपये
राजनाथ सिंह-13,438 रुपये
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »