Maldives की जमीन से नहीं होने देंगे भारत विरोधी गतिविधि: इब्राहिम मोहम्मद सोलीह

नई दिल्‍ली। Maldives की जमीन का इस्तेमाल किसी भी भारत विरोधी गतिविधि के लिए नहीं होने देंगे। चीन के समर्थक अब्दुल्ला यामीन को हराने के बाद Maldives के राष्‍ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलीह ने कहा कि माले, हिंद महासागर में एक स्थाई कारक की भूमिका निभाएगा।
सोलीह ने कहा कि हम दोनों देश शताब्दियों से ऐतिहासिक और सांस्कृति संबंधों को साझा कर रहे हैं। यह काफी दुख की बात है कि पिछले कुछ सालों में दोनों देशों के संबंध गैरजरूरी चीजों के लिए दांव पर लगा दिए गए थे। मैं काफी खुश हूं कि अपनी पहली विदेश यात्रा के लिए भारत को चुना और पीएम मोदी ने शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत की। यह दोनों देशों की मजबूत संबंधों का प्रतीक है। हम अपने संबंधों को और मजबूत करने के प्रयास करते रहेंगे। स्वास्थ्य, टूरिजम और हिंद महासागर की सुरक्षा और स्थायित्व के मुद्दे पर हम एक साथ हैं।
जब सोलीह से Maldives में चीन की मौजूदगी और सैन्य इस्तेमाल के बारे में सवाल किया तो उन्होंने कहा कि Maldives के संप्रभु राज्य है। हम हिंद महासागर में अपनी भूस्थिर स्थिति के बारे में बहुत ध्यान रखते हैं। हम इस बात का पूरा ध्यान रखते हैं कि शांति ऐसे मौके पर बेहद जरूरी है, जब टेंशन बढ़ रही हो।
जब उनसे पूछा गया कि भारत सरकार से उनकी क्या अपेक्षाएं हैं तो सोलीह ने कहा, ‘हम शुक्रगुजार हैं कि भारत ने मालदीव की वर्तमान वित्तीय स्थिति को समझा और बजटरी सपोर्ट के लिए तुरंत पैकेज का ऐलान किया। हमारी भारत से अपेक्षा है कि हम लोग इसी तरह एक-दूसरे के साथ संबंधों को साझा करें और हिंद महासागर को सुरक्षित बनाते हुए एक-दूसरे की संप्रभुता का पूरा ध्यान रखें।’
चीन की बीआरआई पर सोलीह ने कहा, ‘हमारी सरकार पिछली सरकार के दौरान लिए गए कर्ज की समीक्षा कर रही है। इसमें कोई दो राय नहीं हैं कि स्थिति काफी चुनौतीपूर्ण है। बड़ी संख्या में इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोग्राम शुरू किए गए हैं। हम लोग उन अग्रीमेंट की समीक्षा करने की प्रक्रिया में हैं।’
सोलीह ने अपनी सरकार बनने पर कहा कि मैं काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि मालदीव की जनता ने मुझमें भरोसा दिखाया। उन्होंने कहा, ‘हम काफी सौभाग्यशाली हैं कि जनता ने हमें 58 प्रतिशत वोट दिए। मालदीव की लोकतांत्रिक यात्रा में कुछ उतार-चढ़ाव रहे हैं। हम लोग करप्शन के खिलाफ जीरो टोलरेंस, न्यायिक सुधार और सत्ता का गलत इस्तेमाल करने की जांच करेंगे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »