ऑस्कर अवॉर्ड के लिए क्‍यों चुनी गई Period: End of Sentence

लॉस एंजेलिस/कैलीफार्निया। Oscars Awards 2019 में भारत की जिस फिल्म Period: End of Sentence ने ऑस्कर अवॉर्ड अपने नाम किया उसमें माहवारी से संबंधित गंभीर मुद्दे को दिखाया गया है।

इस गंभीर मुद्दे को 25 मिनट 31 सेकेंड की फिल्म में इस तरह दिखाया गया कि सिनेमाजगत के सबसे बड़े अवॉर्ड को अपने नाम करने में कामयाब हो गई। ‘पीरियड : द एंड ऑफ सेंटेंस’ (Period: End of Sentence) फिल्म को डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट सब्जेक्ट श्रेणी में ऑस्कर अवॉर्ड मिला है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर वो 5 कारण जिस वजह से इस फिल्म को ऑस्कर अवॉर्ड मिला।

इस फिल्म में माहवारी जैसे सामाजिक और ज्वलंत मुद्दे को बड़ी गंभीरता से उठाया गया है। भारत के लिए यह फिल्म इस लिए भी खास हो जाती है क्योंकि महिलाओं की माहवारी को लेकर आज भी लोगों की रुढ़िवादी सोच है। इस फिल्म में इस सोच को अच्छे ढंग से दिखाया गया है, जो कि इस रुढ़िवादी मानसिकता पर गहरी चोट करती है।

पीरियड्स जैसे गंभीर मुद्दे पर फिल्म में महिलाओं से जुड़ी अलग-अलग तरह की समस्याओं को दिखाया गया है। यह समस्याएं न केवल ग्रामीण इलाकों बल्कि कुछ शहरों में रहने वाली महिलाओं की भी दिखाई गई है। खास बात यह है कि फिल्म में न केवल समस्याओं पर फोकस किया गया है बल्कि बदलाव भी दिखाया गया है।

‘पीरियड : द एंड ऑफ सेंटेंस’ फिल्म में न केवल महिलाओं की समस्याओं को सामाजिक तौर पर ही नहीं बल्कि माहवारी से संबंधित जानकारी भी देती है। फिल्म में दिखाया गया है कि कई महिलाएं पीरियड्स के दौरान कपड़ा इस्तेमाल करने वाली बीमारियों के बारे में बताया गया है। इसके विपरीत उन्हें पैड इस्तेमाल करने के फायदे के बारे में बताया गया है।

खास बात यह है कि इसे भारतीय प्रोड्यूसर गुनीत मोंगा की ’सिखिया एंटरटेनमेंट’ ने प्रोड्यूस किया है। गुनीत मोंगा ने इसके अलावा कई बॉलीवुड फिल्में प्रोड्यूस कर चुके हैं। इन फिल्मों में द लंच बॉक्स, गैंग्स ऑफ वासेपुर, द गर्ल इन यलो बूट्स, वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई भी प्रोड्यूस कर चुके हैं। इन सभी फिल्मों को अच्छा रिस्पांस मिला।

इस डॉक्यूमेंट्री का निर्देशन रायका जेहताबची ने किया है। यह डॉक्यूमेंट्री ‘ऑकवुड स्कूल इन लॉस एंजिलिस’ के छात्रों और उनकी शिक्षक मिलिसा बर्टन द्वारा शुरू किए गए ‘द पैड प्रोजेक्ट’ का हिस्सा है

आपको बता दें, शॉर्ट फिल्म कैटेगरी में 5 फिल्मों को नॉमिनेशन मिला था। इसमें भारत की ओर से ‘पीरियड: द एंड ऑफ सेंटेंस’ फिल्म थी। बाकी चार फिल्मों में ‘ब्लैक शीप’, ‘एंड गेम’, ‘लाइफबोट’, ‘ए नाइट एट द गॉर्डन’ फिल्में थीं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »