आखिर क्यों जरूरी है Family Dinner ?

अब पूरे परिवार का एक साथ खाना खाने का चलन अर्थात Family Dinner लगभग खत्म हो चुका है। एक समय था जब परिवार के सभी सदस्य एक साथ एक ही डाइनिंग टेबल पर बैठकर साथ में खाना खाते थे और ढेर सारी बातें करते थे। लेकिन अब ये सारी चीजें खत्म होती जा रही हैं। समय की कमी कह लें या कुछ और वजह…लेकिन अब घर के सारे मेम्बर्स का एक साथ बैठना काफी मुश्किल हो गया है। जब समय मिलता भी है तो उसमें लोग फैमिली से बात करने की बजाय टीवी देखना पसंद करते हैं। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि आखिर फैमिली डिनर क्यों जरूरी है?
इन दिनों गैजेट्स के प्रति एडिक्शन फैमिली टाइम को अवॉइड करने की सबसे बड़ी वजह है। खाते वक्त लोग डाइनिंग टेबल पर फैमिली से बात करने की बजाय टीवी देखना या सोशल मीडिया को फॉलो करना ज्यादा पसंद करते हैं। अब डाइनिंग टेबल फर्नीचर का एक टुकड़ा बन कर रख गया है।
क्या कहते हैं अनुसंधानकर्ता?
हाल ही में हुए एक अध्ययन में पाया गया कि अकेले खाना खाने वालों की तुलना में फैमिली के साथ डिनर करने वाले टीनएजर्स और अडल्ट्स की खाने की हैबिट ज्यादा सेहतमंद होती है। शोधकर्ताओं ने ये भी पाया कि जो लोग फैमिली के साथ बैठकर खाते हैं वे ज्यादा फ्रूट्स और सब्जियां खाते हैं।
ईटिंग हैबिट को इम्प्रूव करता है
फैमिली डिनर खाने की हैबिट को इम्प्रूव करने का सबसे अच्छा तरीका है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण फैमिली फंक्शन है क्योंकि फैमिली डिनर टाइम ही ऐसा समय होता है जब परिवार के सभी सदस्य दिनभर के काम के बाद खाली होते हैं ऐसे में एकसाथ समय बिताना चाहिए, इससे कई समस्याओं का हल भी निकल जाता है।
फैमिली बॉन्डिंग का अच्छा तरीका
कई स्टडीज में ये भी पाया गया है कि परिवार के साथ डिनर करने से फैमिली बॉन्डिंग काफी मजबूत होती है। परिवार के साथ सभी लोग जब डिनर करते हैं तो वे एक दूसरे की प्रॉब्लम शेयर करते हैं जिससे इनका रिश्ता और मजबूत होता है।
एक मील भी है काफी
अपने बिजी शेड्यूल की वजह से हो सकता है कि आपको समय न मिल पाए। ऐसे में जब भी समय मिले चाहे ब्रेकफस्ट,लंच या डिनर किसी भी समय आप परिवार के साथ ही खाना खाएं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *