Dudhwa नेशनल पार्क की घुसपैठियों से सुरक्षा हेतु बीएसएफ लगाने पर विचार करें: हाईकोर्ट

प्रयागराज। Dudhwa नेशनल पार्क में जहां घुसपैठियों के हमले बढ़ते जा रहे है वहीं शिकारियों और तस्‍करों की पनाहगाह बनता जा रहा है। हाईकोर्ट ने इनसे सुरक्षा के लिए सरकारों द्वारा अन्‍य उपाय भी करने के लिए कहा गया है, इसके लिए बीएसएफ लगाने पर विचार जरूरी है। हाईकोर्ट ने नेपाल सीमा से सटे दुधवा नेशनल पार्क की घुसपैठियों से सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने संबंधित पक्षों से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) लगाने पर विचार करने को कहा है। सुनवाई में यह भी सामने आया है कि करीब 500 लोग यहां नियमित रूप से घुसपैठ कर रहे हैं।

हाईकोर्ट ने Dudhwa मामले में केंद्र सरकार को भी पक्षकार बनाने को कहा है
घुसपैठ के मामले में पकड़े गए प्रेम सिंह की याचिका की सुनवाई के दौरान जस्टिस अताउर्रहमान मसूदी ने कहा, यह मामला जनहित के लिहाज से महत्वपूर्ण है। यह सब आरक्षित जंगलों में हो रहा है। दुधवा में घुसपैठ इसलिए भी चिंताजनक है क्योंकि इससे न केवल जंगल की संपत्ति को नुकसान पहुंच रहा है, बल्कि यहां के स्टाफ की सुरक्षा भी खतरे में है।

यहां एक समय में 500 घुसपैठिए मौजूद रहने की जानकारी एफआईआर में दी गई है। वैसे भी जंगल की संपत्ति हमेशा खतरे में रहती है। अराजक तत्व यहां आकर नुकसान पहुंचाते हैं।

वन विभाग के पास कर्मचारी हैं, न उपकरण
हाईकोर्ट ने कहा, नेपाल सीमा से सटे दुधवा का प्रशासनिक नियंत्रण फिलहाल वन विभाग के पास है, लेकिन उसके पास न उपयुक्त सुरक्षा उपकरण हैं और न ही उचित संख्या में कर्मचारी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »