‘मस्जिद से अच्छी मौत कहीं नहीं’ का पाठ पढ़ाने वाला मौलाना डरकर आइसोलेशन में पहुंचा

नई दिल्‍ली। तबलीगी जमात के लोगों को ‘मस्जिद से अच्छी मौत कहीं नहीं’ का पाठ पढ़ाने वाला मौलाना साद अब खुद कोरोना वायरस से डर गया है।
अब तक लापता मौलाना साद का एक नया ऑडियो संदेश आया है। इस संदेश के जरिए साद ने खुद बताया है कि वह फिलहाल डॉक्टरी सलाह के बाद दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में आइसोलेशन में हैं।
ऑडियो में वह अब तबलीगी जमात के लोगों को समझा रहा है कि डॉक्टर के पास जाना शरयित के खिलाफ नहीं है। इससे पहले वायरल ऑडियो में कहा गया था कि सलाह उसी डॉक्टर की मानी जाए तो खुद अल्लाह में यकीन रखता हो।
सरकार की मदद करने, डॉक्टर की सलाह मानने को कहा
तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद का यह ऑडियो दिल्ली मरकज के यू ट्यूब पर है। सुबह जारी संदेश में कहा गया है कि जमातियों को सरकार की पूरी मदद करनी चाहिए और डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। इसके साथ ही अब कहीं मजमा नहीं लगाने को कहा गया है जबकि इससे पहले वायरल ऑडियो में कहा गया था कि यह अफवाह है कि मस्जिद में जुटने से कोरोना से मौत हो सकती है। आगे कहा था कि अगर ऐसे मस्जिद में मौत होती भी है तो इससे बेहतर कुछ नहीं होगा।
इलाज में अब मदद करेंगे जमाती?
दरअसल, अब तक मेडिकल स्टाफ के लोग बहुत परेशान थे क्योंकि तबलीगी जमात के लोग इलाज में साथ नहीं दे रहे थे। दिल्ली के तुकलकाबाद में जहां इन्हें रखा गया था वहां भी ये लोग घूम रहे थे। अब अपने मुखिया के बयान के बाद संभव है कि ये लोग इलाज में सहयोग करें।
मौलाना साद ने ऑडियो में जोर देकर कहा है कि डॉक्टर का कहा माना जाए। यह शरियत के खिलाफ नहीं है। साद ने यह भी कहा कि ऐसा नहीं करना समझदारी की बात नहीं है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *