अमेरिका द्वारा वित्तीय मदद रद्द किए जाने पर पाकिस्‍तान बोला, वह हमारा पैसा

इस्लामाबाद। आतंकियों के खिलाफ नरमी पर अमेरिका द्वारा वित्तीय मदद रद्द किए जाने के बाद पाकिस्तान ने इसे ‘अपना पैसा’ बताया है। आतंकियों की सुरक्षित पनाहगाह बन चुके पड़ोसी मुल्क ने कहा है कि यह कोई मदद या सहायता नहीं है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री एसएम कुरैशी ने मुस्कुराते हुए कहा, ‘ये जो 300 मिलियन डॉलर है, ये मदद न थी और न है। हकीकत यह है कि यह पैसा कोलिशन सपॉर्ट फंड के तौर पर आता है।’
पाक मंत्री ने रविवार शाम को कहा कि ये वो पैसा है जो पाकिस्तान ने अपने संसाधनों से खर्च किया है और अमेरिका को इसे हमें लौटाना था। उन्होंने जोर देकर कहा है कि यह हमारा पैसा है और हमने खर्च किया है। कुरैशी ने तर्क रखते हुए कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग में हमारे साझा उद्देश्य हैं और इसकी बेहतरी के लिए पाकिस्तान ने योगदान किया है और जानमान की कुर्बानी दी है।
इमरान सरकार के मंत्री ने कहा कि अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को यह पैसा लौटाया जाना था, जो उन्होंने नहीं दिया है। पाकिस्तान की पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए इमरान खान के मंत्री ने आगे कहा कि यह आज नहीं हुआ बल्कि पाकिस्तान की इस हुकूमत के आने से पहले ही अमेरिकी सरकार ने जितनी भी सुरक्षा मदद थी, उसे बंद कर दिया था।
आपको बता दें कि एक दिन पहले ही खबर आई थी कि अमेरिकी मिलिटरी ने पाकिस्तान को दी जानेवाली 30 करोड़ डॉलर (2130 करोड़ रुपये से ज्यादा) की मदद रद्द कर दी है। आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने में नाकाम रहने के कारण इस्लामाबाद को अब तक यह मदद रोकी गई थी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »