01 अक्‍टूबर से क्‍या-क्‍या बदलने जा रहा है, फायदा होगा या नुकसान?

नई दिल्‍ली। 01 अक्टूबर से कई चीजें बदल जाएंगी, जिनका आपकी जेब से संबंध है। आइए जानें, SBI के कौन-से नियम बदल रहे हैं, कॉर्पोरेट टैक्स में बदलाव का क्या फायदा मिलेगा, जीएसटी रेट का क्या होगा। यहां समझिए कौन-सा बदलाव आपके फायदे का और किससे होने वाला है आपको नुकसान।
SBI ने किए आपके फायदे के बदलाव
SBI ने इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग ट्रांजैक्शंस पर मासिक सीमा को पूरी तरह खत्म कर दिया है। अपने खाते में 25,000 रुपये का ऐवरेज मंथली बैलेंस रखने वाले ग्राहक बैंक ब्रांच से दो बार मुफ्त में पैसे निकाल सकते हैं। खाते में 25,000 से 50,000 रुपये तक का ऐवरेज मंथली बैलेंस रखने वाले शाखा से मुफ्त में 10 बार पैसे निकाल सकते हैं। खाते में 50,000 रुपये से अधिक तथा 1 लाख रुपये तक रखने वाले ग्राहक बैंक शाखा से असीमित संख्या में पैसे निकाल सकते हैं।
पेट्रोल पंपों पर SBI के क्रेडिट कार्ड से पेमेंट पर कैशबैक खत्म
पेट्रोल पंपों पर SBI क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर मिलने वाली 0.75% की छूट 01 अक्टूबर से खत्म कर दी है। केंद्र सरकार ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए ढाई साल पहले इसे शुरू किया था। अन्य बैंक भी यह छूट देते हैं, लेकिन उम्मीद है कि एसबीआई के इस कदम के बाद अब अन्य कंपनियां भी उसके कदम को फॉलो करेंगी।
पेंशन पॉलिसी में बदलाव
ऐसे सरकारी कर्मचारी जिनकी मृत्यु 01 अक्टूबर 2019 तक 10 साल की सर्विस पूरा करने से पहले हो जाती है और उन्होंने लगातार सात साल तक सेवा दी है तो उनके परिजनों को एक अक्टूबर 2019 से उप नियम (3) के तहत बढ़ी हुई पेंशन दर के हिसाब सेर पेंशन मिलेगी।
कॉर्पोरेट टैक्स कटौती का फायदा
कॉर्पोरेट टैक्स में बड़ी कटौती का फायदा मिलना शुरू होगा। 1 अक्टूबर के बाद स्थापित मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के पास 15 फीसदी टैक्स भरने का विकल्प होगा। इन कंपनियों पर सरचार्ज के साथ कुल टैक्स 17.01 फीसदी हो जाएगा।
GST: होटल के कमरे होंगे सस्ते
GST काउंसिल ने 1000 रुपये किराये वाले होटल कमरों पर जीएसटी जीरो कर दिया है। इसके बाद 1001 से 7,500 रुपये तक के कमरों पर जीएसटी को 18 प्रतिशत से घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है। इसी तरह, 7,500 रुपये से ऊपर के कमरों पर जीएसटी को 28 से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया है। जीएसटी की नई दरें उन लोगों पर भी लागू होंगी, जिन्होंने एक अक्टूबर के बाद के लिए बुकिंग की है। वहीं, रेल गाड़ी के डिब्बों पर GST की दर को 5 से बढ़ाकर 12 पर्सेंट किया गया है। पेय पदार्थों पर GST 18 से बढ़ाकर 28 पर्सेंट कर दिया गया है।
GST फॉर्म भी बदला
5 करोड़ सालाना से ज्यादा टर्नओवर वाले कारोबारियों के लिए 1 अक्टूबर से नया जीएसटी रिटर्न आएगा। इन कारोबारियों को GSTANX-1 फॉर्म भरना होगा जो GSTR-1 की जगह लेगा, यह अनिवार्य होगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »