क्‍या होता है नॉन मिलिट्री Pre-Emptive strike, जिसे वायुसेना ने अंजाम दिया

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कई जगह भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्ट्राइक किए जाने की अधिकारिक जानकारी देते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने इस पूरे ऑपरेशन को नॉन मिलिट्री Pre-Emptive strike का नाम दिया है। इसे काउन्टर टेरर अटैक का भी नाम दिया गया है।

क्या है नॉन मिलिट्री Pre-Emptive strike

विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि पिछले 20 सालों से आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद, पाकिस्तान से आतंकी साजिश रच रहा है, उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। उन्होंने ये भी बताया कि इस एयर स्ट्राइक में जैश का सबसे बड़ा आतंकी ठिकाना ध्वस्त किया गया है। उन्होंने कहा कि भारत की तरफ से की गई कार्रवाई नॉन मिलिट्री प्री-एम्पटिव स्ट्राइक थी। अब यह जानना जरूरी है कि आखिर उन्होंने ऐसा क्यों कहा और यह कैसी स्ट्राइक होती है।

बता दें कि नॉन मिलिट्री Pre-Emptive strike का मतलब है ऐसा हमला जो पाकिस्तान की सेना और जनता पर नहीं बल्कि उनकी जमीन पर स्थित आतंकी ठिकानों पर था। ऐसा हमला जो पाकिस्तान की संप्रभुता पर हमला नहीं बल्कि भारत में आतंक फैला रहे आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद व अन्य संगठनों के ठिकानों पर था।

गोखले ने कहा, पाकिस्तान हमेशा से कहता रहा है कि वह अपनी जमीन का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए नहीं होने देता है लेकिन ऐसा दिख नहीं रहा था। इसलिए हमने उन आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया। इस अभियान में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकियों, ट्रेनरों और फिदायीन हमलावरों को मार गिराया गया है। बालाकोट कैंप जैश का कमांडर मौलाना युसूफ अजहर चला रहा था। पुलवामा हमले को इसी आतंकी संगठन ने करवाया था।

बता दें कि काउंटर टेरर अटैक का मतलब भी यही है कि यह आतंकी हमले के खिलाफ में जवाबी कार्रवाई थी न कि पाकिस्तान के खिलाफ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »