पश्चिम बंगाल के गवर्नर ने गृह मंत्रालय को भेजी गोपनीय रिपोर्ट

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में सीबीआई और ममता सरकार के ताजा विवाद को लेकर राज्य के गवर्नर केसरीनाथ त्रिपाठी ने एक गोपनीय रिपोर्ट तैयार करके गृह मंत्रालय को भेजी है।
सूत्रों का कहना है कि गृह मंत्रालय सीबीआई के काम में बाधा डालने के आरोप में वहां मौजूद आईपीएस अधिकारियों पर कार्यवाही कर सकती है। वहीं खबरें आ रही हैं ममता बनर्जी का धरना अभी और लंबा चल सकता है। ऐसे में ममता बनर्जी धरना चलने तक धरना स्थल से काम करेंगी।
इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गवर्नर से सीबीआई के अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की करने और हिरासत में लिए जाने के दुर्भाग्यपूर्ण मामले पर गृह मंत्रालय को अवगत कराने को कहा था। इसके बाद गवर्नर ने राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी को तलब कर इस मामले में तुरंत ऐक्शन लेकर विवाद को खत्म कराने को कहा था।
इस मामले पर बीजेपी और विपक्षी पार्टियां एक-दूसरे के सामने आ गई हैं। इसे लेकर लोकसभा और राज्य सभा में भी जबरदस्त हंगामा हुआ। विपक्ष के हंगामे के बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यह देश में पहली बार है कि सीबीआई के अधिकारियों के खिलाफ ऐसी कार्यवाही हुई और उन्हें हिरासत में लिया गया।
उन्होंने कहा कि लाखों लोगों की गाढ़ी कमाई को हड़प लेने वाली कंपनी के खिलाफ सीबीआई को जांच की इजाजत सुप्रीम कोर्ट से मिली थी और मामले की पूछताछ के लिए ही सीबीआई की टीम रविवार को राजीव कुमार के घर पहुंची थी। सीबीआई को राजीव के घर जाने की जरूरत क्यों पड़ी, इसका जवाब देते हुए राजनाथ ने कहा कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे और लगातार समन के बावजूद पूछताछ में हिस्सा लेने नहीं आए थे।
राजनाथ ने कहा कि पूछताछ के लिए पहुंची टीम को पुलिस ने रोका और बलपूर्वक हिरासत में ले लिया था। उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि ऐसी घटना से देश के संघीय ढांचे को खतरा है। राजनाथ सिंह ने आगे बताया कि उन्होंने मामले पर बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से भी बात की है। और उनसे मामले पर पूरी रिपोर्ट मांगी है।
सबूत छिपाने के आरोपी कोलकाता पुलिस आयुक्‍त राजीव कुमार सीबीआई पूछताछ के खिलाफ कलकत्‍ता हाई कोर्ट पहुंच गए हैं। उन्‍होंने हाई कोर्ट से सीबीआई पूछताछ से अंतरिम राहत मांगी है। कलकत्‍ता हाई कोर्ट राजीव कुमार की याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है और इस मामले में मंगलवार को सुनवाई होगी।
वहीं सुप्रीम कोर्ट ने राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करने का फैसला लिया है। याचिका में सीबीआई ने कोर्ट से निवेदन किया था कि वह राजीव कुमार को जांच में सहयोग करने का निर्देश दें। साथ ही सीबीआई ने राजीव कुमार पर अब तक हुई इन्वेस्टिगेशन में साथ न देने का आरोप भी लगाया है।
सीबीआई द्वारा राजीव कुमार पर सबूत नष्ट करने का भी आरोप लगाया गया है। इसपर चीफ जस्टिस ने कहा, ‘अगर कोलकाता पुलिस कमिश्नर ने सबूत नष्ट करने की कोशिश की है, तो उससे जुड़े साक्ष्य हमारे सामने लाए जाएं, इसपर ऐसी कार्यवाही होगी कि उन्हें पछताना पड़ेगा।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »