पश्चिम बंगाल: बंद के दौरान भाजपा और टीएमसी कार्यकताओं में झड़प

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बुधवार को भाजपा के 12 घंटे के बंद के दौरान कुछ जिलों में भगवा पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों में छिटपुट झड़पों की रिपोर्ट है। उत्तर दिनाजपुर जिले में दो छात्रों की मौत के विरोध में भाजपा ने इस बंद का आह्वान किया है। वरिष्ठ मंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने बताया कि स्थिति “पूरी तरह नियंत्रण में है” और जनजीवन “थोड़ा भी प्रभावित नहीं हुआ है।
पुलिस ने बताया कि भाजपा और तृणमूल समर्थकों के बीच पश्चिमी मिदनापुर, पश्चिम बर्धमान, दक्षिणी दिनाजपुर और उत्तरी दिनाजपुर में झड़पें हुई। इन स्थानों पर बंद के समर्थन में भाजपा की रैलियां और बंद के विरोध में निकाली गयी तृणमूल कांग्रेस की रैलियां आमने-सामने आ गईं थी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि भीड़ को बाद में हटाया गया और स्थिति को काबू में लाया गया।
पार्थ चटर्जी ने कहा, “भाजपा कुछ इलाकों में शांति भंग करने की कोशिश कर रही थी और लोगों में डर का माहौल पैदा करना चाह रही थी। लेकिन स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और जनजीवन किसी भी तरह प्रभावित नहीं हुआ। हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।”भाजपा नेता एवं सांसद रूपा गांगुली ने गरियाहाट इलाके में बंद के समर्थन में रैली निकाली और तृणमूल कांग्रेस सरकार पर राज्य में “असंतोष को दबाने की कोशिश” करने का आरोप लगाया।
पूर्वी रेलवे एंव दक्षिण पूर्वी रेलवे के तहत आने वाले कुछ स्टेशनों पर रेल सेवा कुछ समय के लिए बाधित रही। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि बंद का समर्थन कर रहे लोगों द्वारा स्टेशनों पर लगाए गए अवरोधकों के बावजूद कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली। शहर में सड़क परिवहन सेवा सामान्य रही। बस ड्राइवर सुरक्षा के लिए हेलमेट पहने थे।
पूर्वी रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि बंद समर्थक बारासात, कृष्णनगर और सियालदह संभाग के कुछ स्टेशनों पर पटरियों पर बैठ गये थे। इस कारण सुबह पांच-दस मिनट तक रेल यातायात बाधित रहा। उन्होंने कहा, लोकल ट्रेनों सहित पूर्वी रेलवे की ट्रेन सेवा फिलहाल सामान्य रूप से चल रही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »