हमने कश्मीर में शांति स्थापित करने के लिए 10 साल तक काम किया: राहुल

बेंगलुरु। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार की जम्मू-कश्मीर नीति पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार की गलतियों के चलते पाकिस्तान को गड़बड़ी करने का मौका मिला है। राहुल ने कहा कि मोदी सरकार के चलते पाकिस्तान को इस ‘समस्याग्रस्त’ राज्य में गलत बर्ताव करने का मौका मिला है। राहुल गांधी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से कश्मीर मामले पर बयान देने के बाद यह बात कही है। पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से कहा था कि कश्मीर का हल गाली और गोली से नहीं, बल्कि गले लगाने से निकलेगा।
राहुल ने सीधे पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा, ‘उन्होंने जम्मू-कश्मीर में गुस्से और नफरत का माहौल पैदा कर दिया है। इस हिंसा और द्वेष से सिर्फ पाकिस्तानियों को फायदा हुआ है।’ राहुल गांधी ने दावा किया कि उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ चुपचाप बिना किसी ‘तमाशा या ड्रामा’ के कश्मीर मुद्दे पर काम किया था। उन्होंने कहा कि हमने पी. चिदंबरम और जयराम रमेश जैसे नेताओं के साथ कश्मीर के लिए 10 साल तक काम किया था, लेकिन मोदी सरकार ने इन प्रयासों को सिर्फ एक महीने में ही बर्बाद कर दिया।
गांधी ने कहा कि 2004 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी के बाद कश्मीर मसले को सुलझाने की कोशिशें शुरू की थीं, जबकि उनके दौर में कश्मीर जल रहा था। उन्होंने कहा कि मनमोहन सरकार की सबसे बड़ी सफलता यही थी कि उन्होंने 10 साल के दौरान जम्मू-कश्मीर में शांति का माहौल बनाया था।
राहुल ने कहा, ‘हमने कश्मीर में शांति स्थापित करने के लिए 10 साल तक काम किया। हमने पंचायत चुनाव कराए, रोजगार के मुद्दे पर काम किया और हजारों लोगों को बैंकों से जोड़ा। इसकी वजह यह थी कि हम कश्मीर में शांति और सौहार्द्र स्थापित करना चाहते थे।’
-एजेंसी