हम खुश हैं कि यह ‘कोरोना वायरस’ हमें छोड़ रहा है: अजय आलोक

पटना। नीतीश कुमार के साथ विवाद के बाद प्रशांत किशोर अपनी ही पार्टी के नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। बुधवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता अजय आलोक ने उनकी विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए उन्हें ‘कोरोना वायरस’ करार दे दिया।
उन्होंने कहा कि वे जहां जाना चाहते हैं, वहां जाएं। उन्हें भी इस कोरोना वायरस के जाने से बड़ी खुशी होगी। इससे पहले भी उन्होंने ट्वीट करते हुए प्रशांत पर हमला बोला था और उन्हें अपने कद को देखकर बात करने की नसीहत दी थी।
बता दें कि मीडिया से बात करते हुए नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा था कि उन्हें (प्रशांत) अमित शाह के कहने पर पार्टी जॉइन कराई गई थी। इस पर पलटवार करते हुए प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर नीतीश कुमार को ‘झूठा’ करार दिया था।
उन्होंने कहा कि अगर यह सच है तो उनके इस सच को कौन मानेगा कि वह अमित शाह के सुझाए गए शख्स को न सुनने की हिम्मत कर सकते हैं।
उन्होंने यह भी कहा था, ‘आपने (नीतीश) मेरा रंग अपने जैसा बनाने की एक नाकाम कोशिश की है।’
अजय आलोक का हमला
प्रशांत किशोर के इस बड़े हमले के बाद पार्टी नेता अजय आलोक ने मंगलवार को ट्वीट कर उन पर निशाना साधा था। प्रशांत पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, ‘नीतीश कुमार का फॉल देखने का सपना देखते-देखते लालू प्रसाद यादव जेल पहुंच गए। आप कहां जाएंगे?’
उन्होंने सवाल किया, ‘आपकी (प्रशांत की) राजनीतिक विश्वसनीयता कहां है? कांग्रेस-आप, एसएस, टीएमसी या डीएमके। कोई तो बताओ।’
आलोक ने आगे कहा कि प्रशांत किशोर से रंग मिलाने के अलावा नीतीश कुमार को बहुत काम है। उन्होंने प्रशांत को नसीहत देते हुए कहा कि आदमी को अपना कद देखकर बोलना चाहिए। इसके बाद बुधवार को मीडिया से बात करते हुए आलोक ने कहा, ‘यह आदमी (प्रशांत किशोर) भरोसे के काबिल नहीं है। वह मोदीजी और नीतीश जी का भरोसा नहीं जीत सकता। वह आम आदमी पार्टी के लिए काम करता है, राहुल गांधी से बात करता है और ममता दीदी के साथ बैठता है। उस पर कौन भरोसा करेगा?’ आलोक ने आगे कहा कि वह जहां जाना चाहते हैं, वहां जाएं। हम खुश हैं कि यह ‘कोरोना वायरस’ हमें छोड़ रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *