रामलला के ऑनलाइन दर्शन व Aarti की मांग

अयोध्या। रामलला के ऑनलाइन दर्शन की हर तरफ से मांग उठ रही है। ट्रस्ट तक भी यह बातें पहुंच रही हैं। इसे लेकर मंथन हो रहा है लेकिन अभी सस्पेंस बना हुआ है। ट्रस्ट का मानना है कि उसके पास जो भी पैसा है वह मंदिर निर्माण के लिए है। इन सब खर्चों के लिए नहीं है। लॉकडाउन में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा अस्थायी राम मंदिर में विराजमान राम लला के दर्शन व Aarti हेतु सोशल मीडिया को माध्यम बनाया जाए व रामलला के दर्शन व Aarti का लाइव प्रसारण फेसबुक, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर क‍िया जाये।

चंपत राय ने कहा, ‘ऑनलाइन दर्शन की अभी कोई व्यवस्था नहीं की गयी है। कोई भी जाता है फोटो खींच लाता है। उसे सोशल मीडिया में डाल देता है। अभी ट्रस्ट की ओर से इसकी कोई व्यवस्था नहीं है। फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम में जो फोटो पड़ी है वह लोग अपने-आप डाल रहे है। अभी हाल में ही ट्रस्ट बना है। इसके बाद भगवान का ट्रान्सफर हुआ है। इतनी जल्दी यह काम नहीं हो सकता है। देश में जहां भी यह व्यवस्था है वह 50-50 सालों से पुरानी व्यवस्था है। अभी लोगों के विचार सुन रहे हैं, आगे देखेंगे।’

अयोध्या में होने वाले श्रीराम जन्मोत्सव पर लॉकडाउन के कारण इस बार बहुत से राम भक्त रामलला के जन्मोत्सव में शामिल नहीं हो सकेंगे।

2 अप्रैल, गुरुवार को रामनवमी का पावन पर्व मनाया जाएगा। रामनवमी को भगवान श्री राम जी के जन्मोत्सव के रुप में मनाया जाता है। हर साल चैत्र शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को यह पर्व मनाया जाता है। 

कुछ भक्तों के अनुसार अयोध्या में रामलला के दर्शन बंद होने के बाद श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने रामभक्तों को रामलला के दर्शन कराने के लिए विशेष इंतजाम करने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद आज से रामभक्त घर बैठे ही मोबाइल, लैपटॉप और कंप्यूटर पर रामलला के दर्शन, Aarti कर सकेंगे परंतु अब चंपत राय के बयान के बाद फ‍िलहाल ऐसा कुछ होने नहीं जा रहा।

लोगों की मांग थी क‍ि श्रीनाथद्वारा की भांत‍ि श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट आज से फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर रामलला के श्रृंगार दर्शन का प्रसारण करे। हर दिन सुबह-सुबह रामलला की शृंगार का फोटो व वीडियो अपलोड किया जाए। ये प्रसारण राम नवमी और उसके बाद भी चले।

व‍िद‍ित है क‍ि रामलला को 25 मार्च चैत्र नवरात्री के पहले दिन नए अस्थाई भवन में स्थापित किया गया है। 2 अप्रैल को राम नवमी है और श्रीराम का जन्मोत्सव है। आमतौर पर इस दिन अयोध्या में लाखों लोगों की भीड़ उमड़ती है, लेकिन लॉकडाउन की वजह से इस बार भीड़ नहीं होगी।

Dharma Desk -Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »