फारूक अब्दुल्ला की चेतावनी: अनुच्छेद 35 A और 370 पर अपना रुख स्पष्ट करे केंद्र सरकार

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने अनुच्छेद 35 A और 370 पर रुख स्पष्ट करने के लिए केंद्र सरकार को फिर चेतावनी दी है। अब्दुल्ला ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि केंद्र सरकार अगर इस पर अपना रुख स्पष्ट नहीं करती है तो उनकी पार्टी पंचायत चुनाव के साथ ही विधानसभा और लोकसभा चुनावों का भी बहिष्कार करेगी। बता दें कि एनसी ने पहले ही 35 A के मुद्दे पर सूबे में आगामी पंचायत चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया है। उधर, उधर, कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाक आर्मी चीफ को गले लगाने पर उठे विवाद पर भी अब्दुल्ला ने टिप्पणी की है।
अनुच्छेद 35 A और 370 पर केंद्र को चेताते हुए अब्दुल्ला ने कहा, ‘अगर केंद्र सरकार इन पर अपना रुख साफ नहीं करती है तो हम ना सिर्फ पंचायत चुनाव बल्कि विधानसभा और लोकसभा चुनावों का भी बहिष्कार करेंगे।’ उधर, इस मुद्दे पर सियासी रार के बीच पीडीपी ने भी पंचायत चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी है। पीडीपी ने दो टूक कहा है कि सरकार को पंचायत चुनाव और 35ए से जुड़ी आशंकाओं को समाप्त करना चाहिए, इसके बाद ही पार्टी चुनाव में जाने को लेकर फैसला करेगी।
दरअसल, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के एक बयान के बाद इस मुद्दे पर सियासी सरगर्मी तेज हुई है। डोभाल ने पिछले दिनों कहा था कि जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान होना संभवत: एक ‘त्रुटि’ थी। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि संप्रभुता से कभी समझौता नहीं किया जा सकता।
‘भारत-पाक के बीच दोस्ती जरूरी’
उधर, पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाक आर्मी चीफ को गले लगाने पर उठे विवाद पर भी अब्दुल्ला ने प्रतिक्रिया दी। अब्दुल्ला ने कहा, सिद्धू को इस मुद्दे पर जिस तरह से मीडिया ने टारगेट किया, वह दर्शाता है कि कुछ ऐसे तत्व हैं जो भारत और पाक के रिश्ते को बेहतर नहीं होने देना चाहते। भारत और पाकिस्तान दोनों तरफ कुछ निहित स्वार्थ वाले हैं जो नहीं चाहते कि दोनों देशों के बीच शांति हो। पर, जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए दोनों देशों के बीच दोस्ती जरूरी है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »