गंगा यात्रा पर निकलीं प्रियंका गांधी वाड्रा बोलीं, चौकीदार अमीरों के होते हैं

प्रयागराज। अपने पुरखों की धरती प्रयागराज से स्टीमर के काफिला के साथ वाराणसी की गंगा यात्रा पर निकलीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने सफर के दूसरे पड़ाव सिरसा घाट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को समर्थन देने की अपील की।
कांग्रेस महासचिव तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने सिरसा घाट पर अपनी क्रूज बोट को छोड़ा और गेस्ट हाउस में लोगों को संबोधित किया।
सिरसा के बाद क्रूज बोट से लाक्षागृह पहुंचीं प्रियंका गांधी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सिर्फ बातें करती है, काम नहीं करती। देश बातों से नहीं काम से चलता है। यह सरकार विज्ञापन दिखा रही है। देश के विकास के लिए राहुल गांधी के हाथों को मजबूत कीजिये। यहां सभा को संबोधित करने के वह सीतामढ़ी के रवाना हो गई हैं।
चौकीदार किसानों के नहीं बल्कि अमीरों के होते हैं
प्रियंका गांधी ने कहा कि 45 सालों में इतने कम रोजगार नहीं हुए जितने बीते 5 सालों में हुए। उन्होंने कहा कि देश इस समय संकट में है, इसलिए मुझे घर से बाहर निकलना पड़ा। लोगों से मतदान की अपील करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, वोट देकर देश को और अपने आप को मजबूत बनाएं। पीएम मोदी के चौकीदार कैंपेन पर निशाना साधते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि उनकी (पीएम मोदी) की मर्जी अपने नाम के आगे क्या लगाएं। मुझे तो एक किसान ने कहा कि चौकीदार अमीरों के होते हैं, हम किसान तो अपने खुद चौकीदार होते हैं।
सिरसा घाट क्षेत्र में प्रियंका गांधी बोट से उतरकर बाजार में शिवगंगा वाटिका गेस्टहाउस पहुंची। यहां नुक्कड़ सभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देश संकट में है। देश चार पांच लोगों के हाथ में गिरवी है। इस चुनाव में आप अपने और बच्चों के भविष्य के लिए चुनाव कीजिये। कांग्रेस की सरकार को याद कीजिये। कांग्रेस को वोट कीजिये। राहुल गांधी के हाथ को मजबूत कीजिये।
इस दौरान उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार पर आरोप भी जड़े और लोगों से पीएम मोदी की तर्ज पर पूछा कि आपके पास रोजगार है क्या। प्रियंका गांधी मनैया घाट से दुमदुमा घाट पहुंची। वह स्थानीय नेताओं से मिली हैं। यहां उन्होंने लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी और भाजपा पर काफी देर तक हमला बोला। प्रियंका गांधी ने यहां पर लोगों से पूछा कि आपके पास रोजगार है क्या? नौजवान और किसान परेशान हैं।
बेमतलब के मुद्दों में उलझाया जा रहा है। जनता के लिए राजनीति होनी चाहिए। जनता की आवाज सुनी जानी चाहिए। आवाज उठाने वालों को डराया जाता है। प्रियंका गांधी ने कहा कि 45 वर्ष में सबसे कम रोजगार मिला। छह महीने से मनरेगा का पैसा नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि किसानों को फसल का बाजिब दाम मिलना चाहिए। युवाओं को रोजगार चाहिए। महिलाओं को सुरक्षा चाहिए। यह सभी बड़े चुनावी मुद्दे हैं, लेकिन इन मुद्दों से भटकाया जा रहा है।
प्रियंका ने कहा कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार आई तो 10 दिनों में किसानों के कर्ज माफ कर दिए गए। राजस्थान में भी कांग्रेस की सरकार आते ही किसानों को राहत दी गई। उनका कर्ज माफ किया गया। उन्होंने अपील की है कि सोच समझकर उम्मीदवार चुने।
राजनीति में हाल ही में सक्रिय हुईं कांग्रेस महासचिव तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज अपने पुरखों की धरती प्रयागराज से पार्टी के प्रचार का विधिवत आगाज किया। वह छह स्टीमार के काफिला के साथ प्रयागराज से वाराणसी तक की गंगा यात्रा पर हैं। इस दौरान वह गंगा नदी के तट पर गांव के लोगों के साथ संवाद भी कर रही हैं।
प्रियंका की प्रयागराज से वाराणसी की यह तीन दिनी यात्रा 20 मार्च को संपन्न होगी। देश के राजनीतिक नक्शे में खास जगह रखने वाले उत्तर प्रदेश के प्रयागराज व वाराणसी पर प्रियंका गांधी का फोकस है। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रियंका की यह यात्रा महत्वपूर्ण मानी जा रही है।
17वीं लोकसभा के लिए होने वाले आम चुनाव में नेता और उम्मीदवार आमजन तक पैठ बनाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी अलग अंदाज में चुनाव प्रचार में उतर रही हैं। चुनावों में बड़े-बड़े शहरों में रोड शो के बढ़ते चलन को दरकिनार कर पूर्वी उत्तर प्रदेश की कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी ने जलमार्ग को चुना।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »