वाजिद खान की पत्नी का खुलासा, धर्म बदलने के लिए अब भी मिल रही है प्रताड़ना

मुंबई। म्यूजिक डायरेक्टर साजिद-वाजिद की जोड़ी इस साल टूट गई। वाजिद खान इस दुनिया में नहीं रहे। उनकी पारसी पत्नी कमालरुख इस दर्द से उबर नहीं पाई हैं। इस बीच उन्होंने एक इमोशनल नोट लिखा है। इस नोट में उन डराने वाले तरीकों का जिक्र किया है जो उनके मरहूम शौहर के परिवार ने उन्हें कन्वर्ट कराने के लिए अपनाए थे। वह जन्म से पारसी हैं।
वाजिद की पत्नी ने साझा की अपनी कहानी
वाजिद खान की पत्नी ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एंटी कन्वर्जन लॉ को लेकर लंबा पोस्ट लिखते हुए ‘इंटरकास्ट मैरिज’ के कारण झेले जा रहे दर्द का जिक्र किया है। कमालरुख ने अपने नोट में लिखा है कि वह और वाजिद कॉलेज में साथ पढ़ते थे। शादी के पहले दोनों की 10 साल कोर्टशिप चली। कमालरुख पारसी और वह मुस्लिम थे। उन्होंने प्यार की वजह से स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी की थी।
शादी के पहले पारसी थीं कमालरुख
मेरा साधारण पारसी पालन-पोषण डेमोक्रेटिक सिस्टम से हुआ था। विचारों की स्वतंत्रता और हेल्दी डिबेट होते रहते थे। हर तरह से शिक्षा को बढ़ावा दिया जाता था। हालांकि शादी के बाद यही स्वतंत्रता, शिक्षा और डेमोक्रैटिक वैल्यू सिस्टम मेरे पति के परिवार के लिए सबसे बड़ी समस्या बन गए।
धर्म ना बदलने से वाजिद से बढ़ी दूरी
पोस्ट में उन्होंने जिक्र किया कि स्वतंत्र महिला और ओपिनियन उनके पति के परिवार में किसी को स्वीकार्य नहीं थे। उनके धर्म ना बदलने के फैसले को भी गलत तरीके से लिया गया। कमालरुख ने बताया कि वह हर धर्म का सम्मान करती हैं और हर सेलिब्रेशन में हिस्सा भी लेती हैं। हालांकि धर्म ना बदलने के फैसले से उनके और वाजिद के बीच में भी दूरियां बढ़ गईं। इसका असर उनके पति-पत्नी के रिश्ते और बच्चों पर भी पड़ा।
कन्वर्जन के लिए अपनाए भयानक तरीके
कमालरुख ने लिखा कि मेरा आत्मसम्मान इस बात की इजाजत नहीं दे रहा था कि अपने पति और उसके परिवार के लिए मैं इस्लाम कुबूल करने के लिए झुक जाऊं। कन्वर्जन पर मैं व्यक्तिगत रूप से यकीन नहीं करती हूं। उन्होंने बताया कि मैंने पूरी शादीभर पुरजोर कोशिश की कि इस भयानक सोच से मुकाबला करती रहूं। नतीजा ये हुआ कि उनके परिवार ने मुझे अलग-थलग कर दिया और कन्वर्जन के लिए डराया-धमकाया, जिसमें तलाक के लिए मुझे कोर्ट तक ले जाना शामिल था।
पति के गुजरने के बाद भी हो रहा है टॉर्चर
कमालरुख ने लिखा, वाजिद बहुत प्रतिभाशाली म्यूजिशन और कम्पोजर थे। मैं औऱ मेरे बच्चे उन्होंने बहुत याद करते हैं और चाहते हैं कि काश वह हमारे साथ कुछ और वक्त बिता पाते हैं। उन्होंने लिखा कि उनके पति के गुजरने के बाद भी उनके परिवार की तरफ से यातनाएं जारी हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *