डूबने के कगार पर है वोडाफोन-आइडिया, 8 बैंकों को होगा भारी नुकसान

मार्च में खत्म हुई तिमाही में वोडाफोन-आइडिया का नुकसान 7022.8 करोड़ रुपये हो गया है। कंपनी की आमदनी में भी साल दर साल के आधार पर करीब 19 फीसदी की गिरावट देखी गई है, जिसके बाद आय 9647.8 करोड़ रुपये रह गई है। साल दर साल के आधार पर देखा जाए तो कंपनी का घाटा कम होकर 44,233 करोड़ रुपये हो गया है, जो 2019-20 में 73,878.1 करोड़ रुपये था। हालत ये है कि वोडाफोन-आइडिया कंपनी एयरटेल और रिलायंस जियो से कम्पटीशन नहीं कर पा रही है। सवाल ये उठता है कि अगर कंपनी डूब जाती है तो सबसे अधिक नुकसान किन बैंकों को होगा।
ये 8 बैंक झेलेंगे सबसे अधिक नुकसान
वोडाफोन आइडिया पर 8 बैंकों का करीब 30 हजार करोड़ रुपया उधार है। ये है इन 8 बैंकों की लिस्ट।
भारतीय स्टेट बैंक- 11,000 करोड़ रुपये
यस बैंक- 4,000 करोड़ रुपये
इंडसइंड बैंक- 3,500 करोड़ रुपये
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक- 3,240 करोड़ रुपये
पंजाब नेशनल बैंक- 3,000 करोड़ रुपये
आईसीआईसीआई बैंक- 1,700 करोड़ रुपये
एक्सिस बैंक- 1,300 करोड़ रुपये
एचडीएफसी बैंक- 1,000 करोड़ रुपये
शेयरों में आई तगड़ी गिरावट
टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया का शेयर जनवरी में 14 रुपये के करीब जा पहुंचा था लेकिन अब उसकी कीमत गिरकर 9 रुपये के करीब आ गई है। कंपनी के चौथी तिमाही के नतीजे आने के बाद तो शेयरों में 15 फीसदी से भी अधिक की गिरावट आ गई थी और शेयर 8.45 रुपये के करीब पहुंच गया था। इस साल 1 जनवरी से डोमेस्टिक आईयूसी बंद होने का भी कंपनी का नुकसान हुआ है, जिसका असर शेयरों पर भी देखा जा रहा है।
बेतहाशा बढ़ा कर्ज
मार्च तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू पिछली तिमाही के मुकाबले 11.8 फीसदी घटकर 9.610 करोड़ रुपये रहा। कंपनी का कुल कर्ज बढ़कर 1.8 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया जो पिछली तिमाही में 1.17 लाख करोड़ रुपये था। कर्ज में भारी बढ़ोत्तरी की वजह यह रही कि कंपनी ने 60 हजार करोड़ रुपये के एजीआर बकाये को कर्ज के रूप में दिखाया है। पिछले वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में ऐसा नहीं किया गया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *