Virat Kohli चाहते हैं कि विदेशी दौरों पर क्रिकेटरों के साथ रहें उनकी पत्नियां

नई दिल्‍ली। भारतीय कप्‍तान Virat Kohli चाहते हैं कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) विदेशी दौरों पर क्रिकेटरों को पूरे समय के लिए पत्नियों का साथ मिले। इसके लिए उन्होंने बीसीसीआई से विदेशी दौरों पर क्रिकेटरों को वाइफ के साथ रहने की इजाजत देने की मांग भी की है। इस बारे में कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (CoA) के सूत्रों ने एएनआई से पुष्टि भी की है। प्रशासकों की समिति के सूत्रों ने न्यूज़ एजेंसी से कहा कि ‘हां, उन्होंने इस बारे में निवेदन किया है लेकिन हम लोग अभी इस पर कोई फैसला नहीं ले रहे हैं।’

सूत्रों ने एएनआई से कहा, ‘इसका फैसला बीसीसीआई के नए पदाधिकारी करेंगे। उन पर निर्भर करता है कि वे इस पर क्या फैसला लेते हैं?’ रिपोर्ट्स की मानें तो कप्तान विराट कोहली ने बोर्ड के एक अधिकारी से इस बारे में बात की थी, जिसे अधिकारी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्‍त विनोद राय और डायना की अध्‍यक्षता वाली प्रशासकों की समिति (CoA) तक पहुंचा दी।
खबर तो यह भी है कि कप्तान Virat Kohli की इस दरख्वास्त के पीछे अनुष्का शर्मा बड़ी वजह हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक सीओए ने टीम इंडिया के मैनेजर सुनील सुब्रमण्यम को लिखित में यह दरख्वास्त करने को कहा है। बता दें कि इस तरह की किसी भी बात के लिए टीम मैनेजर को बीसीसीआई से औपचारिक मांग करनी होती है।
क्या है नियम?
बोर्ड के वर्तमान नियम के मुताबिक क्रिकेटर और सपोर्ट स्‍टाफ अपनी पत्नी को विदेशी दौरे पर दो सप्‍ताह साथ रख सकते हैं।

हालांकि विदेशों दौरों के दौरान खिलाड़ियों के साथ पत्नियों या गर्लफ्रेंड्स के जाने पर सभी देशों के अलग-अलग नियम हैं। मौजूदा समय में अधिकांश टीमों ने अपने खिलाड़ियों के साथ फैमिली को भेजा जाना अलाउड नहीं किया है। साल 2007 में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने स्वतंत्र स्पोर्ट्स एडमिनिसटेटर से 5-0 से टीम की हार पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा था कि फैमिली के साथ टीम के समय बिताने की वजह से ऐसा हुआ है।

उस समय टीम के स्टार बल्लेबाज़ केविन पीटरसन ने इस फैसले को बेतुका बताया था।

साल 2015 एशेज़ के दौरान भी ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज ईयान हेली ने भी खिलाड़ियों की पत्नियों और गर्लफ्रेंड्स को टीम की हार के लिए जिम्मेदार माना था।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »