पश्‍चिम बंगाल में मतदान के दौरान हिंसा, बाबुल सुप्रिया की गाड़ी पर पथराव

आसनसोल। पश्‍चिम बंगाल पिछले चुनावों की तरह चौथे चरण के चुनाव में भी हिंसा से नहीं बच सका। यहां आसनसोल में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की कार पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया, जिससे उनकी गाड़ी का शीशा टूट गया। हालांकि इस हमले में उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। यहां सुप्रियो के सामने टीएमसी की मुनमुन सेन मैदान में हैं। सुप्रियो ने टीएमसी पर हिंसा करने का आरोप लगाया है।
इसके अलावा आसनसोल के जेमुआ में एक पोलिंग बूथ पर लोगों ने वोट डालने से इसलिए इंकार कर दिया क्योंकि वहां सुरक्षा व्सवस्था नहीं थी। कुछ बूथों पर टीएमसी कार्यकर्ताओं और सुरक्षा बलों के बीच झड़प की भी खबरें हैं।
लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 9 राज्यों की 72 सीटों पर आज वोट डाले जा रहे हैं।
बाबुल सुप्रियो की कार पर हमला
बीजेपी की ओर से आसनसोल से सांसद प्रत्याशी बाबुल सुप्रियो की कार पर पोलिंग बूथ के बाहर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। इस हमले में उनकी गाड़ी का शीशा टूट गया। हालांकि सुप्रियो को किसी भी नुकसान की जानकारी नहीं मिली है। बाबुल सुप्रियो ने सीएम ममता बनर्जी का जिक्र कर टीएमसी कार्यकर्ताओं पर उन पर हमला करने का आरोप लगाया है। सुप्रियो ने कहा, ‘चुनाव में गड़बड़ी की बड़ी साजिश रची जा रही है।’
बाबुल सुप्रियो को टक्कर दे रही हैं मुनमुन सेन
आसनसोल से बीजेपी ने बाबुल सुप्रियो को प्रत्याशी बनाया है, वहीं उनका मुकाबला तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की मुनमुन सेन से हैं। दोनों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है। साल 2014 में मुनमुन सेन ने बंगाल की बांकुरा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ आठ बार के सांसद सीपीआई के बासुदेव आचार्य को हराया था।
चुनाव आयोग से शिकायत करेगी बीजेपी
लगातार चारों चरणों में हो रही हिंसा की शिकायत बीजेपी चुनाव आयोग से करेगी। मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में बीजेपी का प्रतिनिधि मंडल चुनाव आयोग से मिलेगा। इस प्रतिनिधि मंडल में बीजेपी के विजय गोयल और अनिल बलूनी भी होंगे।
वोटिंग का बहिष्कार
आसनसोल में जेमुआ पोलिंग बूथ संख्या 222 और 226 पर ग्रामीणों ने केंद्रीय सुरक्षाबलों की गैरमौजूदगी के चलते वोटिंग का बहिष्कार कर दिया है। आसनसोल के बूथ नंबर 199 में टीएमसी कार्यकर्ताओं और सुरक्षाबलों के बीच टकराव हो गया। एक टीएमसी पोलिंग एजेंट ने बताया, ‘बूथ में बीजेपी का कोई पोलिंग एजेंट मौजूद नहीं है।’
गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रत्याशी रहे बाबुल सुप्रियो ने टीएमसी के डोला सेन को शिकस्त दी थी। उस दौरान बाबुल सुप्रियो को 4 लाख 19 हजार 983 वोट मिले थे जबकि डोला सेन क 3 लाख 49 हजार 503 मतों से संतोष करना पड़ा था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »