विनोद राय बताया, टीम इंडिया का कोच बनने से द्रविड़ ने क्‍यों किया इंकार

नई दिल्‍ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड BCCI की प्रशासकों की समिति CoA के पूर्व अध्यक्ष विनोद राय ने हाल ही में इस राज का खुलासा किया कि आखिर पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने अनिल कुंबले का कार्यकाल समाप्त होने के बाद भारतीय टीम का कोच बनने से क्यों इंकार कर दिया था।
साल 2017 में अनिल कुंबले ने विराट कोहली के साथ संबंध ‘अस्थिर’ होने के बाद इस पद से इस्तीफा दे दिया था। द्रविड़ को इसके बाद सीओए द्वारा कोच बनने का ऑफर दिया गया था लेकिन उन्होंने निजी कारणों का हवाला देते हुए इससे इंकार कर दिया था।
राय ने फेसबुक लाइव में कहा, ‘द्रविड़ ने खुलकर हमसे बात की।’ राय ने बताया, ‘द्रविड़ ने हमसे कहा ‘देखिए मेरे घर पर दो बड़े होते लड़के हैं और मैं भारतीय टीम के साथ सारी दुनिया घूमता रहा हूं। मैं उन्हें वक्त और ध्यान नहीं दे पाया हूं। मुझे लगता है कि मुझे घर पर भी रहना चाहिए और अपने परिवार को समय देना चाहिए।’
राय ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह सही अनुरोध था।’ राय ने यह भी कहा कि द्रविड़ अंडर-19 टीम के कोच बने रहना चाहते थे क्योंकि वह युवा खिलाड़ियों के साथ शुरू किया गया काम खत्म करना चाहते थे। सीनियर टीम की कमान इसके बाद रवि शास्त्री को सौंपी गई।
राय ने कहा कि ‘देखिए, कोचिंग की क्षमता की बात करें तो द्रविड़, शास्त्री और कुंबले इस मामले में सर्वश्रेष्ठ हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमने बेशक राहुल द्रविड़ से बात की। वह अंडर-19 टीम के साथ जुड़े थे और अच्छा काम कर रहे थे। उन्होंने एक टीम तैयार करने का रोडमैप विकसित किया था।’
राय ने कहा, ‘वह शानदार नतीजे दे रहे थे। वह अंडर-19 टीम के साथ ही काम करना चाहते थे क्योंकि उन्हें लगता था कि कुछ काम बाकी है जिसे खत्म किया जाना जरूरी है।’ द्रविड़ को बाद में नेशनल क्रिकेट अकादमी का हेड ऑफ क्रिकेट बनाया गया। साल 2019 में उन्हें पद दिया गया। राय ने कहा, ‘उन्होंने एनसीए से खुद को जोड़ने के लिए काफी बड़ा दिल दिखाया।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *