Vigilance Department ने केरल की स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ जांच शुरू की

तिरूवनंतपुरम। केरल की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा के खिलाफ Vigilance Department और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो(एसीबी) ने जांच प्रकिया शुरू कर दी है।

उन पर आरोप है कि फर्जी मेडिकल बिलों के आधार पर उन्होंने अपने पति को अपना आश्रित दिखाया था और इलाज पर आए खर्च का पुनर्भुगतान करा लिया था जबकि उनके पति एक सेवानिवृत सरकारी अधिकारी हैं।

इस मामले में उनके खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के महासचिव के सुरेंद्रन ने शिकायत की थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि इस मामले में उन्होंने फर्जीवाड़ा किया है और सेवानिवृत सरकारी अधिकारी अपने पति को अपना आश्रित दर्शाकर चिकित्सा बिलों का भुगतान हासिल कर लिया था।

उन्होंने आरोप लगाया था कि मंत्री महाेदया ने एक जोड़ी चश्मा 28 हजार रूपए में खरीदा था और इस पर अाए खर्च को सरकारी खजाने से ले लिया था जो एक अपराध की श्रेणी में आता है तथा मंत्री के कार्यालय की शुचिता का उल्लंघन भी है।
भाजपा महासचिव ने कहा कि वह खुद स्वास्थ्य मंत्री हैं और सरकारी अस्पतालों में इलाज की बेहतर सुविधाएं मौजूद हैं लेकिन उन्होंने इसके बावजूद प्राईवेट अस्पताल का रूख किया और इलाज पर आए भारी भरकम बिल का पुर्नभुगतान करा लिया।

Vigilance Department ने के के शैलजा के खिलाफ जांच प्रकिया शुरू कर दी है।
– एजेंसी