Sitapur में रिश्वतखोरी का वीडियो वायरल, पांच सिपाही निलम्बित

सीतापुर। उत्तर प्रदेश के Sitapur जिले में शस्त्र लाइसेंस की फाइल संस्तुति कराने के नाम पुलिस कार्यालय और सीओ सिधौली कार्यालय में पैसे के लेन देन का वीडियो शनिवार रात वायरल हो गया। गंभीर प्रकरण को लेकर कुल पांच सिपाहियों पर गाज गिरी। इनके खिलाफ सिधौली कोतवाली में सीओ सिधौली ने केस दर्ज कराया। एसपी का कहना है कि पांच सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। पूरे मामले की जांच सीओ बिसवां कर रहे हैं।

बताते हैं कि वीडियो फरवरी माह का है। सिधौली के रहने वाले भानु प्रताप को अपना शस्त्र लाइसेंस बनवाना था। पुलिस की विभागीय रिपोर्ट लगवानी थी। इसलिए एक-एक कर चार कार्यालयों में पैसे का लेन देन हुआ। सीओ सिधौली की पेशी में सिपाही योगेश चन्द्र उपाध्याय इसमें शामिल हुए। फिर अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी कार्यालय में सिपाही संजय कुमार और हिमांशु गंगवार से लेन देन हुआ। अगले आरोप में पुलिस कार्यालय की शाखा डीसीआरबी के पवन कुमार जुड़े। आईजीआरएस शाखा में सिपाही मनोज कुमार लेनदेन की जद में आए।

शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे वीडियो वायरल हुआ। मामला संज्ञान में आते ही एसपी एलआर कुमार ने कार्यवाही के आदेश दिए। मुकदमे में वादी बने सीओ सिधौली अंकित कुमार ने सभी पांचों सिपाहियों के विरुद्ध 7/13 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत देर रात अभियोग पंजीकृत कराया। मामले की जांच सीओ बिसवां ने शुरू की है।

सीओ बिसवां समर बहादुर सिंह का कहना है कि वीडियो में जो व्यक्ति शस्त्र लाइसेंस की जांच के नाम पर पैसा दे रहा है, उस भानु प्रताप की तलाश हो रही है। उधर पुलिस अधीक्षक एलआर कुमार ने बताया है कि सभी सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जा चुका है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »