Blue Whale game की शिकार लड़की को बचाया गया, झील में कूदी थी

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर से Blue Whale game का ‘एक और शिकार’ होते होते बचा. 17 साल की एक किशोरी पहाड़ी की चोटी से झील में कूद गई. उसकी बाजू पर पुलिस ने देखा कि चाकू से ब्लू व्हेल उकेरा हुआ है.

कल आधी रात के आसपास हुई इस घटना में किशोरी को बचा लिया गया है.

लड़की झील के आसपास कुछ देर तक स्कटूर से चक्कर लगाती देखी गई थी. गोताखोरों और पुलिसकर्मियों ने उसे बचा लिया और पैरेंट्स के सुपुर्द कर दिया. किशोरी बीएसएफ के जवान की बेटी है और सोमवार रात घर से यह कहते हुए निकल गई थी कि बाजार जा रही है.

लड़की को बचाने वालों ने कहा कि यह लड़की रो रही थी कि मैं अगर डुबकी नहीं लगाऊंगी तो मेरी मां मर जाएगी. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है इसका एडमिन कौन है?

माता पिता ने उसके काफी देर तक न लौटने पर उसे फोन किया लेकिन पाया कि वह फोन कहीं छोड़ गई है क्योंकि किसी अजनबी ने फोन पर रिप्लाई किया. इसके बाद परिवार खोजबीन में जुट गया और इसी दौरान लड़की को झील के आसपास देखा गया.

कुछ लोगों ने पुलिस को अलर्ट किया और पुलिस भी ठीक उसी समय वहां पहुंच गई जब लड़की चोटी से कूदी. पुलिस आवाज देती रही लेकिन लडकी कूद चुकी थी.

पुलिस ऑफिसर लेखराज सिहाग ने बताया कि उन्होंने और गोताखोर ओम प्रकाश ने मिलकर लड़की को झील से निकाला. जब उससे यह सब करने का कारण पूछा गया तो उसका कहना था कि उसे ‘टास्क पूरा करना था.’ हमें बीती रात 11 बजे सूचना मिली कि एक लड़की कल्याण झील के पास ड्राइव कर रही थी. हम मौके पर पहुंचे और उसे आवाज लगाई लेकिन वह दौड़कर चोटी तक जा पहुंची और कूद गई. कुछ देर में हमने उसे बाहर निकाल लिया.

देश के कई राज्यों से Blue Whale game को खेल रहे बच्चों के सुसाइड करने की घटनाएं सामने आ रही हैं. इस खेल और इन घटनाओं का संदिग्ध संबंध भी कहीं न कहीं पाया जा रहा है.

दुनिया भर में Blue Whale game और सुसाइड से जुड़े करीब 100 मामले सामने आए हैं.

-एजेंसी