उप राष्ट्रपति ने किया इलाहाबाद हाईकोर्ट के नए एनेक्सी भवन का उद्घाटन

इलाहाबाद। उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट के नए एनेक्सी भवन का उद्घाटन किया। हाईकोर्ट के 150 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह से जुड़ने पर उन्होंने खुशी जाहिर की। साथ ही न्यायपालिका के नित नए प्रतिमान कायम करने पर खुशी जताई।
एएमए सभागार में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उप राष्ट्रपति ने कहा कि उच्च पदों पर आसीन व्यक्ति कांच के घरों में रहते हैं। समाज उन्हें रोल मॉडल की तरह देखता है। लोग उनकी कार्यशैली में किसी भी तरह की गिरावट को स्वीकार नहीं करते। नेताओं के व्यवहार, उनकी वाणी और उनके विचार की लगातार समीक्षा होती रहती है इसलिए गलती करने से बचना चाहिए।
वेंकैया वेंकैया नायडू ने कहा कि कार्यपालिका और न्यायपालिका को एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए और उन्हें एक दूसरे का पूरक होना चाहिए। हमारा संविधान न्यायपालिका को पूरी स्वतंत्रता प्रदान करता है। साइबर क्राइम ने न्यायपालिका में एक नए अध्याय की शुरुआत की है। उन्हें उम्मीद है कि न्यायपालिका ने साइबर क्राइम से उपजे खतरों को बखूबी पहचाना है और उससे निपटने के लिए खुद को तैयार कर रही है। उन्होंने सुझाव दिया कि मुकदमों के बढ़ते दबाव के मद्देनजर अदालतों को चाहिए कि न्याय के नए तरीके जैसे लोक अदालत, ग्राम न्यायालय और फास्ट ट्रैक कोर्ट को बढ़ाएं। कार्यक्रम में राज्यपाल राम नाईक, हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीबी भोसले, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अन्य कैबिनेट मंत्री और हाईकोर्ट के जज शामिल रहे। इसके बाद उप राष्ट्रपति ट्रिपल आईटी में आयोजित समारोह में शिरकत करने चले गए।
इससे पहले आज सुबह उप राष्ट्रपति एम वेंकैया भरतीय वायुसेना के विमान से इलाहाबाद पहुंचे। इलाहाबाद एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक और सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया था। इनके साथ कैबिनेट मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, सिद्धार्थनाथ सिंह, नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ तथा इलाहाबाद की महापौर नंदी की पत्नी अभिलाषा गुप्ता भी एयरपोर्ट पर मौजूद थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »