Moily ने किया सेना का अपमान, कहा- राफेल पर वायुसेना प्रमुख झूठ बोल रहे हैं

वीरप्पा Moily ने कहा कि राफेल विमान सौदे को लेकर एचएचल और दासौ कंपनी के बारे में वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ झूठ बोल रहे हैं

नई दिल्ली। राफेल मुद्दे को सियासी उड़ान देने में जुटी कांग्रेस ने अब वायुसेना प्रमुख को ही झूठा बता दिया है। कांग्रेस नेता वीरप्पा Moily ने कहा कि राफेल विमान सौदे को लेकर एचएचल और दासौ कंपनी के बारे में वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ झूठ बोल रहे हैं। गौरतलब है कि वायुसेना प्रमुख ने राफेल पर चल रही सियासी लड़ाई पर चिंता जाहिर की थी।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक Moily ने कहा, ‘सरकारी दस्तावेजों के मुताबिक, रक्षा मंत्रालय और वायुसेना प्रमुख हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) को भी शामिल करना चाहते थे। उस वक्त वायुसेना प्रमुख ने दासौ के साथ मिलकर एचएएल का दौरा भी किया और पाया कि वह यान बनाने में सक्षम है। मुझे लगता है कि वायुसेना प्रमुख सही नहीं हैं, वह झूठ बोल रहे हैं और सच को छुपा रहे हैं।’

गौरतलब है कि वायुसेना के प्रमुख बीएस धनोआ ने बुधवार को चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि देश में युद्धक विमान राफेल पर हो रही राजनीति का बुरा असर कहीं देश की सैन्य तैयारियों पर न पड़े। राफेल के आने में देरी का जिक्र करते हुए उन्होंने देश को एक बार फिर चेताया है कि पड़ोसी मुल्कों ने अपने युद्धक विमान अपग्रेड कर लिए हैं और हमें अभी तक इनके मिलने का इंतजार है। हालांकि साथ में उन्होंने यह भी कहा कि सेना को लेकर देश की सभी सरकारों का रवैया हमेशा सकारात्मक रहा है।

बोफोर्स में देश ने काफी खोया
उन्होंने कहा कि देश ने पहले भी बोफोर्स तोप के मामले में काफी कुछ खोया है। बोफोर्स प्रकरण के बाद कई बरसों तक सेना को किसी भी तरह की नई तोप नहीं मिल पाई थी। थल सेना ही बेहतर बता सकती है कि इसका उसे कितना खामियाजा उठाना पड़ा। उससे सीख लेते हुए अब युद्धक विमान राफेल को लेकर राजनीति भी नहीं होनी चाहिए।

सितंबर से राफेल मिलेंगे
वायुसेना के पास वर्तमान में 42 के स्थान पर महज 31 फाइटर स्क्वाड्रन हैं। ऐसे में वायुसेना बड़ी शिद्दत के साथ राफेल के मिलने का इंतजार कर रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि अगले साल सितंबर से राफेल विमान मिलने शुरू हो जाएंगे। 126 राफेल विमानों की जगह अब 36 राफेल की खरीद के सवाल पर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि वायुसेना को हालांकि उम्मीद से कम विमान मिल रहे हैं, लेकिन हम इनका बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर लेंगे।

राफेल है गेमचेंजर
बुधवार को भारत-रूस की वायुसेना के संयुक्त युद्धाभ्यास के समापन समारोह में धनोआ ने कहा कि राफेल गेमचेंजर है। फ्रांस के युद्धक विमानों की खरीद के खिलाफ दायर याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने बहुत ही अच्छा फैसला दिया है। सर्वोच्च अदालत ने यह भी कहा है कि इस युद्धक विमान की बेहद सख्त जरूरत है। धनोआ ने कहा कि जहां तक तकनीक का सवाल है, राफेल विमान के खिलाफ कोई दलील है ही नहीं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »