जब भूखों ने लगाई Dial 112 पर गुहार तो देवदूत बनी वाराणसी पुल‍िस

COVID-19 से जंग में डायल 112 की बड़ी भूमिका न‍िभा रही है जो राशन से लेकर हर जरूरत पूरी करने को मुस्तैद है। गत 24 मार्च को यूपी पुल‍िस की डायल 112 पर 7500 लोगों ने मदद के लिए कॉल की जबकि 23 मार्च को 3500 कॉल आई थीं, 24 मार्च को पूरे यूपी के 250 घरों में यूपी 112 ने राशन पहुंचाया। लॉकडाउन से कई ऐसे लोगों पर परेशानी बड़ गई हैं, जो रोज खाने के लिए पैसे कमाते हैं। ऐसे में अब सारे कारोबार बंद हो गए हैं और उनको काम नहीं मिल रहा है। वाराणसी में कुछ ऐसा ही एक परिवार के साथ हुआ है।

वाराणसी के फूलपुर थाने पर फोन आया कि साहब हम लोगों के पास खाने को कुछ नहीं है, हमारा परिवार तीन दिन से भूखा बैठा है। ये सब सुनते ही पीआरबी की गाड़ी उनके घर पहुंची और उन लोगों को थाने ले आई।

थाना क्षेत्र के थाना रामपुर गांव निवासी पूनम गुप्ता व सुनील गुप्ता की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। लॉकडाउन की वजह से तीन दिन से उन लोगों के पास खाने को कुछ भी नहीं है, तो उन्होंने Dial 112 पर फोन करके खाने के लिए गुहार लगाई। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और पीआरबी उसके घर पहुंच कर पूरे परिवार को थाने लेकर आई।

फूलपुर थाना पर पहुंचे उन लोगों को सबसे पहले थाना कार्यालय पर तैनात राजेश गुप्ता व रामरतन पटेल आगे आए और मेस में बना खाना खिलाया। उन लोगों को कुछ रुपये नकद व जरूरी राशन की व्यवस्था की। इसकी चर्चा पूरे क्षेत्र में रही। पुलिस का यह दूसरा रूप देखकर लोग प्रशंसा कर रहे थे।

फूलपुर थाना प्रभारी सनवर अली ने बताया कि पीआरबी पर सूचना मिली कि एक परिवार दो दिन से भूखा है, सूचना पर पहुंची पीआरवी उन लोगों को थाने लाई और उन्हें मेस में बना खाना खिलाया गया और कुछ जरूरी सामान भी दिलाया गया है। उच्च अधिकारियों के निर्देश पर थाना क्षेत्र में ऐसे लोगों की सूची बनाई जा रही है, जिनके पास खाने को कुछ नहीं है, उनकी मदद की जाएगी।

गौरतलब है क‍ि कोरोना (COVID-19) के संक्रमण को देखते हुए संकट की घड़ी में यूपी पुलिस (UP Police) की इमरजेंसी सर्विस 112 (Emergency Service-112) अधिक तेजी के साथ सक्रिय हो गई है। डायल 112 सेवा से लोगों को बड़ी राहत मिल रही है। उत्तर प्रदेश सीएम योगी ने कहा है कि किसी भी तरह की जरूरत की घड़ी में यूपी 112 के पुलिस रिस्पॉन्स व्हीकल (Police Response Vehicle)पर तैनात पुलिसकर्मी लोगों को मदद पहुंचाएंगे।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »