उत्तर प्रदेश: ओम प्रकाश राजभर ने दी गठबंधन तोड़ने की धमकी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने गठबंधन तोड़ने की धमकी दी है। सुहैलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के मुखिया राजभर ने कहा कि अगर राज्य सरकार अति पिछड़ी जातियों (एमबीसी) के लिए अलग आरक्षण के लिए रास्ता निकालने में सक्षम नहीं होती है तो वह गठबंधन से अलग हो जाएंगे। यही नहीं, राजभर ने इसके लिए सरकार को अक्टूबर तक की डेडलाइन भी दी है।
राजभर ने पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में कहा कि अगर बीजेपी अक्टूबर तक एमबीसी के लिए अलग आरक्षण लाने का वादा पूरा नहीं करती है तो गठबंधन में बने रहने की शायद ही कोई वजह बचे। राजभर का बयान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के पूर्वी यूपी के पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ ग्राउंडवर्क के लिए मीटिंग के एक दिन बाद आया है।
राजभर ने राज्य सरकार को ओबीसी कोटे को ओबीसी और एमबीसी में अलग-अलग करने और एमबीसी के लिए अलग से आरक्षण लाने का मशविरा दिया है। यहां तक कि उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ को इससे जुड़ी एक ड्राफ्ट रिपोर्ट भी सौंपी है। बता दें कि सीएम ने यूपी विधानसभा में अति पिछड़ों और अति दलितों को अलग से आरक्षण के बारे में विचार करने को कहा था।
कैबिनेट फेरबदल में दरकिनार हो सकते हैं राजभर
एसबीएसपी मुखिया ने यह भी कहा कि राज्य सरकार ने उनके प्रस्ताव को लागू करने की दिशा में अब तक कोई कदम नहीं उठाया है। उन्होंने कहा, ‘राज्य सरकार ने तो हमारी मांग के अनुसार एक कार्यालय तक उपलब्ध नहीं करवाया। अगर हम नजरअंदाज किए जाएंगे तो फिर बीजेपी के साथ गठबंधन में रहने का क्या तुक है?’ राजभर बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं को चुभने लगे हैं इसलिए कैबिनेट फेरबदल में उनको दरकिनार करने की भी आशंका है।
राजभर ने इससे पहले कहा था कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने पिछड़ों और दलितों के आरक्षण को तीन श्रेणियों में बांट कर सभी को बराबर हिस्सेदारी पर विचार करने का जो वादा किया उसे वह लोकसभा चुनाव के पहले पूरा करे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »