बहराइच से भाजपा सांसद Savitribai Phule का पार्टी से इस्तीफा

बहराइच। बहराइच से भाजपा सांसद Savitribai Phule ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा देश को मनुस्मृति से चलाना चाहती है।
Savitribai Phule ने कहा कि कहा ‘दलित सांसद होने के कारण मेरी बातें अनसुनी की गईं’। भाजपा दलित, पिछड़ा व मुस्लिम विरोधी है और आरक्षण खत्म करने की साजिश रच रही है।

उत्‍तर प्रदेश के बहराइच से बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने गुरुवार को बीजेपी से इस्‍तीफा दे दिया है. फुले ने इस्‍तीफा देने के बाद कहा कि दलितों को श्रीराम मंदिर नहीं, संविधान चाहिए। हनुमान जी दलित थे तभी भगवान श्रीराम ने उन्‍हें बंदर बनाया। उन्‍होंने कहा कि दलित सांसद होने के कारण मेरी बातों को और मुझे अनसुना किया गया है। आज में बीजेपी से इस्तीफा दे रही हूं। उन्‍होंने बीजेपी पर ही निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी समाज में बंटवारे की कोशिश कर रही है।

सावित्री बाई फुले ने कहा कि संविधान को समाप्त करने की साजिश की जा रही है। दलित और पिछड़ा का आरक्षण बड़ी बारीकी से समाप्त किया जा रहा है। जब तक मैं जिंदा रहूंगी घर वापस नहीं जाऊंगी। संविधान को पूरी तरह से लागू करूंगी। 23 दिसम्बर को लखनऊ के रमाबाई मैदान में महारैली करने जा रही हूं। उसमें मैं बड़ा धमाका करूंगी।

उन्‍होंने आगे कहा ‘मैं सांसद हूं, जब तक कार्यकाल है सांसद रहूंगी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि हनुमान जी दलित थे। हनुमान दलित थे लेकिन मनुवादियों के खिलाफ थे। हनुमान जी दलित थे तभी राम ने उन्हें बंदर बना दिया। दलितों को मंदिर नही संविधान चाहिए। Savitribai Phule ने भाजपा पर देश के संविधान को बदलने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »