दक्षिणी चीन सागर में टकराई अमेरिकी पनडुब्बी, 15 नौसैनिक घायल

अमेरिका की परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बी दक्षिणी चीन सागर में पानी के नीचे किसी ‘अज्ञात चीज़’ से टकरा गई. इस हादसे में 15 अमेरिकी नौसैनिक घायल हो गए हैं.
अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि यूएसएस कनेक्टिकट नाम की यह पनडुब्बी शनिवार को अज्ञात चीज़ से टकराई.
हालाँकि अधिकारियों के मुताबिक़ अभी यह साफ़ नहीं है कि पनडुब्बी टकराई कैसे.
अमेरिकी नौसेना के प्रवक्ता ने बताया है कि हादसे के बाद अब पनडुब्बी अमेरिका के गुआम तट की तरफ़ बढ़ रही है.
उन्होंने कहा, “हादसे में यूएसएस कनेक्टिकट के परमाणु ऊर्जा प्लांट और अन्य महत्वपूर्ण हिस्सों को कोई नुक़सान नहीं पहुँचा है और वो ठीक तरह से काम कर रहे हैं.”
उन्होंने बताया कि टकराने से पनडुब्बी को कितना नुक़सान पहुँचा है, इसकी जाँच की जाएगी.
चीन और तनाव में तनाव
यह घटना ऐसे वक़्त में हुई है जब चीन और ताइवान के रिश्ते काफ़ी तनावपूर्ण चल रहे हैं.
हाल ही में चीन के 38 लड़ाकू विमान ताइवान के हवाई क्षेत्र में अतिक्रमण करते हुए घुसे थे.
चीन की सेना पीपल्स लिबरेशन आर्मी यानी पीएलए ने अक्टूबर महीने के पहले चार दिनों में 150 के क़रीब प्लेन ताइवान के हवाई क्षेत्र में भेजे थे.
चीन की मीडिया में इसे शक्ति के प्रदर्शन के तौर पर देखा गया लेकिन दुनिया भर की कई सरकारों ने इसे भय दिखाने और चीन की आक्रामकता के तौर पर लिया है.
अमेरिका की चिंता
इस हादसे के कुछ ही हफ़्ते पहले अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने एक ऐतिहासिक समझौता किया था जिसके तहत अमेरिका ऑस्ट्रेलिया से परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बी बनाने की तकनीक साझा करेगा.
इस समझौते को ऑकस पैक्ट के नाम से जाना जा रहा था और कहा जा रहा था कि इसका मक़सद चीन के बढ़ते प्रभाव पर लगाम लगाना है.
इस बीच अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि अमेरिका चीन और ताइवान के बीच तनाव को लेकर बहुत चिंतित है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *