निरुपम बनाम देवरा लड़ाई, गोपनीय लेटर सार्वजनिक करने पर Urmila नाराज़

मुंबई। 16 मई को मिलिंद देवड़ा को लिखे गोपनीय पत्र को आहत हुईं रंगीला गर्ल Urmila मातोंडकर, कहा- ‘गोपनीय लेटर को क्यों किया सार्वजानिक’ निरुपम बनाम देवरा लड़ाई में घसीटे जाने को लेकर नाराज हैं। Urmila ने अपना गुस्सा जताते हुए कहा, “ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है की एक गोपनीय खत को सार्वजनिक कर दिया गया है। हर पार्टी में मसले सुलझाए जाते हैं. मैंने देश सेवा के लिए कांग्रेस ज्वाइन की थी न की किसी पर्सनल इंट्रेस्ट या एजेंडे के लिए।”

इसके आगे उर्मिला ने कहा, ”मैंने मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष को पार्टी की बेहतरी के लिए ये खत लिखा था। ये बात महत्त्वपूर्ण है की पार्टी के प्रति अपनी प्रतिबद्धतता और वफादारी के तहत ये लेटर चुनावी नतीजों या एग्जिट पोल आने के पहले लिखा गया था।”

दरअसल कभी अपनी अदाकारी का लोहा मनवाने वाली उर्मिला मार्तोंडकर अब कांग्रेस को लोहे के चने चबवा रही है मगर उर्मिला कैंप का सवाल चिट्ठी की टाइमिंग को लेकर है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार रह चुकीं बॉलीवुड अभिनेत्री Urmila Matondkar ने पत्र लिखकर कार्यकर्ताओं पर गंभीर आरोप लगाया, यह पत्र 16 मई को मिलिंद देवड़ा को लिखा था।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे के बाद पार्टी की परेशानियां लगातार बढ़ती जा रही हैं। लोकसभा चुनाव के बाद से कांग्रेस के मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं। राष्ट्रीय स्तर से लेकर राज्यों तक कांग्रेस पार्टी के अंदर फूट सामने आ रही है। कांग्रेस ने Urmila Matondkar को लोकसभा चुनाव में मुंबई नॉर्थ से प्रत्याशी बनाया था लेकिन उन्हें बीजेपी के गोपाल शेट्टी से हार का सामना करना पड़ा था।

उर्मिला ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मिलिंद देवड़ा को पत्र लिखकर अपनी हार का जिम्मेदार स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं को बताया। सामने आए नौ पन्नों के इस पत्र में उर्मिला ने लिखा है कि स्थानीय नेताओं के बीच फूट, पार्टी में नेतृत्व की कमी, कमजोर प्लानिंग से उनकी लोकसभा में हार हुई।

उर्मिला मातोंडकर ने मिलिंद देवड़ा को नौ पन्नों का एक पत्र लिखा है। जिसमें लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ न देने, कमजोर प्लानिंग, प्रचार तंत्र की नाकामी के साथ चुनाव प्रचार के लिए नियुक्त चीफ कॉर्डिनेटर सन्देश कोंडविलकर, दूसरे पदाधिकारी भूषण पाटिल और जिला अध्यक्ष अशोक सूत्राले को जिम्मेदार ठहराया है।

बता दें कि उर्मिला मातोंडकर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर उत्तर मुंबई से उम्मीदवार थीं। उन्हें भाजपा प्रत्याशी गोपाल शेट्टी ने बड़े अंतर से हराया था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »