UPPSC: तीन मई के बाद जारी होगा संशोधित परीक्षा कैलेंडर

लॉकडाउन का उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग UPPSC की भर्ती परीक्षा के कैलेंडर पर बड़ा असर पड़ा है। आयोग को मार्च, अप्रैल और मई में होने वाली चार बड़ी भर्ती परीक्षाओं सहित सीधी भर्तियों के कई इंटरव्यू टालने पड़े। 20 अप्रैल से खुल रहे आयोग दफ्तर में भर्तियों के लंबित परिणाम पर काम तो शुरू होगा पर परीक्षा कैलेंडर के बारे में फैसला अभी नहीं लिया जाएगा।
तीन मई को लॉकडाउन पर स्थिति स्पष्ट होने के बाद आयोग की बैठक में परीक्षा की नई तिथियां तय कर संशोधित परीक्षा कैलेंडर जारी किया जाएगा। यह जरूर होगा कि दफ्तर खुलने के बाद अफसर यह मानकर तैयारी शुरू कर देंगे कि अगर तीन मई के बाद लॉकडाउन खुलता है तो कौन सी परीक्षा कब कराई जा सकती है। आयोग ने जो चार परीक्षाएं स्थगित की हैं, उनमें से तीन खंड शिक्षाधिकारी प्रारंभिक परीक्षा 2019, कम्प्यूटर सहायक परीक्षा 2019, पीसीएस मेंस 2019 तो आयोग की ओर से 10 जनवरी को घोषित परीक्षा कैलेंडर में शामिल थी जबकि आरओ-एआरओ 2016 प्री परीक्षा कैलेंडर में शामिल नहीं थी क्योंकि इसकी प्रारंभिक परीक्षा निरस्त कर तीन मई को फिर से कराने का निर्णय कैलेंडर जारी करने के बाद हुआ था।
आयोग के अफसरों का कहना है कि इन चार परीक्षाओं की वजह से पूरा कैलेंडर प्रभावित हो चुका है क्योंकि इससे आगे होने वाली परीक्षाएं भी प्रभावित होंगी। मसलन बीईओ की मुख्य परीक्षा के लिए 13 सितंबर की तिथि तय की गई थी, 22 मार्च को इसकी प्रारंभिक परीक्षा नहीं हो सकी इसलिए मुख्य परीक्षा सितंबर में करा पाना मुश्किल होगा। इसी तरह अभी एपीओ 2018 प्री का परिणाम घोषित नहीं है इसलिए 16 मई से इसकी मुख्य परीक्षा भी नहीं हो सकेगी। परीक्षा की नई तिथि तय करने से पूर्व आयोग को यह भी देखना होगा कि इस तिथि पर सेंटर के लिए स्कूल-कॉलेज मिल सकेंगे या नहीं। साथ ही संघ लोक सेवा आयोग की ओर से जारी परीक्षा कैलेंडर का भी ध्यान रखना होगा ताकि एक ही दिन दो परीक्षाएं न पड़ जाएं। 20 अप्रैल को दफ्तर खुलने के साथ ही अफसर इस पर मंथन शुरू कर देंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *