यूपी सरकार का फैसला, अब civil cases में रात को तंग नहीं करेगी पुलिस

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य पुलिस को civil cases में रात में दबिश नहीं देने के आज निर्देश दिये। यह जानकारी राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने दी। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस जघन्य अपराध के अभियुक्त के अलावा अन्य civil cases के अभियुक्तों के खिलाफ रात में कार्रवाई या वारंट तमील नहीं करेगी।

प्रवक्ता के मुताबिक गत रविवार की रात यहां आशियाना थाना क्षेत्र में सिविल मामले में वारंट तामील कराने गए पुलिसकर्मियों द्वारा दुर्व्यवहार की घटना का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री ने यह निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि राजधानी के एसपी (उत्तरी) अनुराग वत्स को सम्पूर्ण मामले की जांच कर दो दिन में रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। दरअसल रविवार की देर रात पुलिस आशियाना निवासी अरविन्द सिंह के घर पहुंची। सिंह की बेटी का आरोप है कि पुलिस ने जबर्दस्ती घर में घुसने का प्रयास किया।

इसके बाद उसने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी, पुलिस महानिदेशक और अन्य अधिकारियों से पुलिस के दुर्व्यवहार की शिकायत की। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को लखनऊ के गोमती नगर क्षेत्र में वाहन चेकिंग के दौरान सिपाही द्वारा युवती को डंडा मारे जाने की घटना को भी गम्भीरता से लिया।

उन्होंने घटना से सम्बन्धित दोनों सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने के निर्देश दिए, जिसके बाद सिपा​हियों को निलंबित कर दिया गया है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि एएसपी (लखनऊ) चक्रेश मिश्र इस प्रकरण की जांच करेंगे। गोमती नगर के जनेश्वर मिश्र पार्क के सामने मंगलवार शाम को चेकिंग के दौरान पुलिस ने बाइक सवार युवक को डंडा मारा जो युवक के पीछे बैठी युवती की नाक पर लग गया। उसकी नाक टूट गयी और वह बेहोश होकर नीचे गिर पड़ी थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस जघन्य अपराध के अभियुक्त के अलावा अन्य civil cases के अभियुक्तों के खिलाफ रात में कार्रवाई या वारंट तमील नहीं करेगी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »