Self-employment के लिए यूपी कैबिनेट ने दी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को मंजूरी

पारम्परिक कारीगरों एवं दस्तकारों को self-employment के लिए दिया जाएगा प्रशिक्षण

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश कैबिनेट ने विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को मंजूरी दे दी। इस योजना से पारम्परिक स्व-रोजगारियों एवं हस्तशिल्पियों को अधिक से अधिक स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे व आजीविका में इजाफा होगा।

योजना के अन्तर्गत पारम्परिक कारीगरों एवं दस्तकारों को उद्यम के आधार पर कौशल वृद्घि हेतु छह दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा जो कि नि:शुल्क व आवासीय होगा। प्रशिक्षण तहसील व जनपद मुख्यालय पर दिया जाएगा।

प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षार्णियों को श्रम विभाग द्वारा अर्धकुशल मजदूरी दर के समान मानदेय प्रदान किया जाएगा और खानपान की सुविधा दी जाएगी। इस योजना के लिए अभ्यर्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। प्रशिक्षण के बाद प्रशिक्षार्णियों को टूल किट भी दी जाएगी।

self-employment की इस योजना से बढ़ई, दर्जी, टोकरी बुनकर, नाई, सुनार, लोहार, कुम्हार, हलवाई, मोची जैसे रोजगार से जुड़े लोगों को विशेष लाभ होगा।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »