कुशीनगर के साथ देश में सर्वाधिक हवाई अड्डा वाला प्रदेश बना यूपी, PM मोदी ने किया लोकार्पण…12 परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज बुधवार को उत्तर प्रदेश स्थित कुशीनगर को अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की सौगात दी। 589 एकड़ में 260 करोड़ की लागत से बने इस हवाई अड्डे के लोकार्पण के साथ उत्तर प्रदेश सर्वाधिक हवाई अड्डा वाला प्रदेश बन गया है। यह उत्तर प्रदेश का तीसरा और सबसे लंबे रनवे वाला एयरपोर्ट भी है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कुशीनगर एयरपोर्ट बनने से किसानों, दुकानदारों, उद्यमियों को लाभ मिलेगा। उन्होंने महापरिनिर्वाण स्थल में बुद्ध प्रतिमा पर चीवर चढ़ाया और भिक्षुओं को चीवर दान किया। पीएम मोदी ने अभिधम्म समारोह को भी संबोधित किया। इसके बाद प्रधानमंत्री यहां 180.6 करोड़ रुपये की लागत से 12 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण और 281 करोड़ रुपये से बनने वाले मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया।
-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत एथेनाल को लेकर आज जिस नीति पर चल रहा है उसका भी बड़ा लाभ उत्तर प्रदेश के किसानों को होने वाला है। गन्ने और दूसरे खाद्यान्न से पैदा होने वाला बायो फ्यूल विदेश से आयात होने वाले कच्चे तेल का एक अहम विकल्प बन रहा है। डबल इंजन की सरकार यहां किसानों से खरीद के नए रिकॉर्ड स्थापित कर रही है। यूपी के किसानों के ही बैंक अकाउंट में अभी तक लगभग 80 हजार करोड़ रुपये उपज की खरीद के पहुंच चुके हैं। पीएम किसान सम्मान निधि से यूपी के किसानों के बैंक खाते में 37 हजार करोड़ रुपये से अधिक राशि जमा की जा चुकी है। आने वाला समय यूपी की आकांक्षाओं की पूर्ति का समय है। आजादी के इस अमृत काल में ये हम सभी के लिए जुट जाने का समय है। यहां से यूपी के लिए पांच महीने के लिए योजनाएं नहीं बनती हैं, आने वाले 25 वर्षों की बुनियाद रखके यूपी को आगे ले जाना है। इस दीपावली पर लोकल फार वोकल का आह्वान करते हुए पीएम ने कहा कि हमारे आसपास स्थानीय वस्तुए खरीदें।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि नई सड़कों, नए रेल मार्गों, नए मेडिकल कॉलेजों, बिजली और पानी से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर का तेज गति से विकास हो पाता है। इसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की पूरी टीम जमीन पर उतारकर दिखा रही है। यूपी के बारे में एक बात हमेशा कही जाती है कि ये एक ऐसा प्रदेश है जिसने देश को सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री दिये। ये यूपी की खूबी है, लेकिन यूपी की पहचान को केवल इस दायरे में ही नहीं देखा जा सकता। यूपी को छह से सात दशकों तक ही सीमित नहीं रखा जा सकता। ये ऐसी धरती है जिसका इतिहास कालातीत है, जिसका योगदान कालातीत है। इस भूमि पर मर्यादापुरुष भगवान राम ने अवतार लिया, भगवान श्रीकृष्ण ने अवतार लिया। जैन धर्म के 24 में 18 तीर्थंकर, उत्तर प्रदेश में ही अवतरित हुए थे। आप मध्यकाल को देखें तो तुलसीदास और कबीरदास जैसे युगनायकों ने भी इसी मिट्टी में जन्म लिया था। संत रविदास जैसे समाजसुधारक को जन्म देने का सौभाग्य भी इसी प्रदेश को मिला है यूपी एक ऐसा प्रदेश है जहां पग-पग पर तीर्थ हैं, और कण-कण में ऊर्जा है। वेदों और पुराणों को कलमबद्ध करने का काम यहाँ के नैमिषारण्य में हुआ था। हमारी गौरवशाली सिख गुरु परंपरा का भी यूपी से गहरा जुड़ाव रहा है। आगरा में ‘गुरु का ताल’ गुरुद्वारा आज भी गुरु तेगबहादुर जी की महिमा का, उनके शौर्य का गवाह है जहां पर उन्होंने औरंगजेब को चुनौती दी थी।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यूपी में बीते साढ़े चार साल में कानून के राज को प्राथमिकता दी गई है। 2017 से पहले जो सरकार यहां थी उसकी नीति थी माफिया को खुली छूट, खुली लूट। आज योगी आदित्यनाथ ने नेतृत में यहां माफिया माफी मांगता फिर रहा है। सबसे ज्यादा इसका दर्द माफियावादियों को ही हो रहा है। योगी जी और उनकी टीम उस भू-माफिया को ध्वस्त कर रही है जो गरीबों और वंचितों की जमीन पर बुरी नजर रखता था। जब कानून का राज होता है, अपराधियों में डर होता है तो विकास की योजनाओं का लाभ भी तेजी से गरीब, दलित, शोषित, पिछड़ों तक पहुंचता है। इस भूमि पर मर्यादापुरुष भगवान राम ने अवतार लिया, भगवान श्रीकृष्ण ने अवतार लिया।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि राममनोहर लोहिया जी कहते थे कि ‘कर्म को करुणा से जोड़ो’, लेकिन पहले की सरकारों ने गरीब के दर्द की परवाह नहीं की। पहले की सरकारों ने अपने कर्म को घोटालों और अपराधों से जोड़ा। यूपी के लोग अच्छी तरह जानते हैं कि इन लोगों की पहचान समाजवादी की नहीं, परिवारवादी की बन गई है। इन लोगों ने सिर्फ अपने परिवार का भला किया, समाज का और उत्तर प्रदेश का हित भूल गए। यूपी में कर्मयोगी की सरकार बनने का सबसे बड़ा लाभ यहां की माताओं-बहनों को हुआ है। जो नए घर बने उसमें से अधिकांश की रजिस्ट्री बहनों के नाम हुई। इज्जत घर बने, तो बहनों की सुरक्षा के साथ उनकी गरिमा की रक्षा हुई। पहले यूपी में हर बड़े अभियान को चुनौती मान लिया जाता था लेकिन आज देश में प्रतिदिन औसतन सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाने वाला अगर कोई राज्य है, तो उस राज्य का नाम उत्तर प्रदेश हैं।
परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भोजपुरी में अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने लोगों को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी का आज बहुत बड़ा सपना पूरा हो गया है। यहां से हवाई जहाज उड़ेगा और मेडिकल कालेज में लोगों का इलाज होगा। इन नई परियोजनाओं से पूरे क्षेत्र की तस्वीर बदलने वाली है। मेडिकल कालेज से बिहार के सीमावर्ती क्षेत्रों को भी लाभ मिलेगा। डाक्टर बनने का सपना पूरा होगा। इसमें अब भाषा अवरोध नहीं बनेगी। नई शिक्षा नीति में यह व्यवस्था की गई है। जब मूलभूत सुविधाएं मिलती हैं तो सपने पूरा करने का जज्बा बढ़ता है। सुविधाओं ने गरीबों का आत्मविश्वास बढ़ाया है। आज केंद्र और यूपी की सरकार मिलर विकास कर रही है। डबल इंजन की सरकार दमदार से कार्य कर रही है। योगी जी की पूर्व की यूपी की सरकार का जनता से कोई मतलब नहीं था। वह चाहती नहीं थी कि केंद्र की योजनाओं का लाभ गरीब के घर तक पहुंचे। इसीलिए पहले यूपी के विकास कार्यों में देर होती गई।
राजकीय मेडिकल कॉलेज और परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुशीनगर के लोगों के सपनों को विकास की नई उड़ान दी है। आज उत्तर प्रदेश में नए मेडिकल कॉलेजों की श्रृंखला खड़ी हो रही है। कुशीनगर के लिए मेडिकल कालेज अति महत्वपूर्ण है, क्योंकि कुशीनगर के अंदर हम लोगों ने बच्चों को दिमागी बुखार से मरते हुए देखा है। पूर्वांचल में स्वास्थ्य सेवा के नाम पर केवल एक मेडिकल कॉलेज था और वह गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज। मैं तो कहता हूं कि अगर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पहिए होते तो पिछली सरकारें उसे कहीं दूसरी जगह लेकर चली गई होतीं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभिधम्म समारोह में कहा कि हमने ज्ञान, महान संदेशों और महान आत्माओं के विचारों को बांधने में कभी भरोसा नहीं किया है। हमारा जो कुछ भी था, उसे मानवता के लिए मम भाव से अर्पित किया है। दुनिया में जहां-जहां भी बुद्ध के विचारों को आत्मसात किया गया, वहां कठिन परिस्थितियों में भी प्रगति के रास्ते बने। अगर हम बुद्ध के संदेश को अपना लेते हैं तो सद्कर्म का मार्ग प्रशस्त हो जाता है। अहिंसा, दया, करुणा ऐसे मानवीय मूल्य आज भी उतनी ही सहजता से भारत के अंतर्मन में रचे बसे हैं। बुद्ध आज भी भारत के संविधान की प्रेरणा हैं। बुद्ध का धम्म चक्र भारत के तिरंगे पर विराजमान होकर हमें गति दे रहा है। भगवान बुद्ध ने कहा था- ‘अप्प दीपो भव’। यानी, अपने दीपक स्वयं बनो। जब व्यक्ति स्वयं प्रकाशित होता है तभी वह संसार को भी प्रकाश देता है। यही भारत के लिए आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा है। बुद्ध इसीलिए ही वैश्विक हैं क्योंकि बुद्ध अपने भीतर से शुरुआत करने के लिए कहते हैं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान बुद्ध की कृपा से आज के दिन कई अलौकिक संयोग एक साथ प्रकट हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि बुद्ध के संदेश पूरी मानवता के कल्याण के लिए हैं। अलग-अलग देश और अलग-अलग परिवेश, लेकिन मानवता की आत्मा में बसे भगवान बुद्ध सबको जोड़ रहे हैं। भारत ने भगवान बुद्ध की इस सीख को अपनी विकास यात्रा का हिस्सा बनाया है। एक तरीके से भारत ने इसे अंगीकार किया है।
महापरिनिर्वाण स्थल ‘अभिधम्म दिवस’ के अवसर पर कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री किरण किरण रिजिजू ने कहा कि एक बौद्ध और भारतीय होने के नाते मैं हमेशा यही सोचता था कि जिस धरा ने बुद्ध भगवान को पूरी दुनिया को दिया है, इस पवित्र धरती कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय स्तर का एयरपोर्ट कब मिलेगा? और वो सपना आज पूरा हुआ है।
-अभिधम्म दिवस पर प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कुशीनगर के महापरिनिर्वाण स्थल पहुंचे। उन्होंने भगवान बुद्ध के दर्शन किए। उन्होंने गुजरात और वडनगर से जुड़े बौद्ध अवशेष देखा। उत्खनन का कार्य 1953 मे शुरू हुआ था। महापरिनिर्वाण परिसर में लगी प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। महापरिनिर्वाण स्थल पहुंचे और दीप प्रज्ज्वलित किया। बौद्ध भिक्षु भदंत एबी ज्ञानेश्वर ने पीएम, सीएम और राज्यपाल को चीवर प्रसाद में दिया। पीएम मोदी ने 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से चीवर दान किया।
पीएम नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि भारत बौद्ध समाज की आस्था-श्रद्धा का केंद्र है। आज कुशीनगर दुनिया से जुड़ गया है। कुशीनगर हवाई अड्डा सिर्फ एयर कनेक्टिविटी के लिहाज से ही महत्वपूर्ण नहीं है। इससे किसान, पशुपालक, दुकानदार, मजदूर, स्थानीय उद्योगपति, सभी लाभान्वित होंगे। पर्यटन में असीमित वृद्धि होगी। इससे स्थानीय युवाओं को रोजगार मिलेगा। आने वाले तीन से चार वर्षों में देश में 200 से अधिक एयरपोर्ट, सीपौड का नेटवर्क खड़ा करने की कोशिश है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुशीनगर हवाई अड्डा दशकों की उम्मीदों का फल है। आज मुझे दोगुनी खुशी हो रही है। तीर्थाटन के साथ-साथ पूर्वांचल के जनप्रतिनिधि के रूप में एक सकंल्प को भी पूरा करने का अवसर मिला है। यह एयरपोर्ट अर्थव्यस्था में बदलाव लाएगा। उन्होंने कहा कि देश का एविएशन सेक्टर प्रोफेशनली चले, सुविधा और सुरक्षा को प्राथमिकता मिले, इसके लिए हाल में एयर इंडिया से जुड़ा बड़ा कदम देश ने उठाया है। ऐसा ही एक बड़ा रिफॉर्म डिफेंस एयरस्पेस को सिविल यूज के लिए खोलने से जुड़ा है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े स्थानों को विकसित करने के लिए, बेहतर कनेक्टिविटी के लिए, श्रद्धालुओं की सुविधाओं के निर्माण पर भारत द्वारा आज विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कुशीनगर का विकास, यूपी सरकार और केंद्र सरकार की प्राथमिकताओं में है। उड़ान योजना के तहत बीते कुछ वर्षों में 900 से अधिक नए रूट्स को स्वीकृति दी जा चुकी है, इनमें से 350 से अधिक पर हवाई सेवा शुरू भी हो चुकी है। 50 से अधिक नए एयरपोर्ट या जो पहले सेवा में नहीं थे, उनको चालू किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज शरद पूर्णिमा की तिथि और महर्षि वाल्मीकि की जयंती पर पूर्वी उत्तर प्रदेश को विकास की नई उड़ान मिल रही है। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बहुत-बहुत धन्यवाद। ‘दुनिया ने युद्ध दिया और भारत ने बुद्ध दिया’, प्रधानमंत्री ने यूएन में यही बात तो कही थी। यह संदेश दुनिया के कोने-कोने में गया। कुशीनगर का यह हवाई अड्डा यूपी का नौवां हवाई अड्डा है और यह यूपी का तीसरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है।
-केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने संबोधन में कहा कि आज आठ बौद्ध धार्मिक स्थलों को जोड़ा जा रहा है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में संभव होने जा रहा है। दो साल में निर्माण कर यह कुशीनगर का यह हवाई अड्डा आज कीर्तिमान स्थापित करने जा रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *