यूपी: 24 घंटों में संक्रमण के 360 नए मामले मिले, एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा

लखनऊ। भारत समेत उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यूपी में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस से संक्रमण के 360 नए मामले दर्ज किए गए हैं। यूपी में एक दिन में यह आंकड़ा अबतक का सबसे ज्यादा है। इतनी बड़ी संख्या में मामले सामने आने के बाद शासन-प्रशासन समेत सरकार में हड़कंप मच गया है। कोरोना के नए मामलों की जानकारी उत्तर प्रदेश सरकार के प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने दी।
अमित मोहन प्रसाद ने कहा, ‘पिछले 24 घंटों में राज्य में कोरोना वायरस के 360 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में एक्टिव मामलों की संख्या 2,130 पहुंच गई है जबकि कोरोना वायरस की वजह से अब तक 127 लोगों की मौत हुई है और 3099 लोगों को इलाज के बाद ठीक होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया है।’ उन्होंने कहा, ‘जब से अन्य राज्यों से भारी संख्या में प्रवासी श्रमिक एवं कामगार लौट रहे हैं, तब से संक्रमण के मामले भी अधिक सामने आ रहे हैं । अब तक इस संक्रमण से 127 लोगों की मौत हो चुकी है।’
प्रवासी मजदूरों की वापसी, बढ़े कोरोना केस
प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) ने बताया कि जब से प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों के नमूने लेने शुरू किए हैं, मामलों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। आशा कार्यकर्ताओं ने प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के घर-घर जाकर पांच लाख 42 हजार 543 प्रवासी श्रमिकों से संपर्क किया और 46,142 के नमूने एकत्र किए। इनमें से 1230 प्रवासी श्रमिक संक्रमित निकले। प्रसाद ने बताया कि 13,178 लोगों को आइसोलेशन सेंटर्स में रखा गया है। बुधवार को कुल 6740 नमूनों की जांच की गई। उन्होंने बताया कि अब कोरोना अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़कर लगभग 78, 500 हो गई है।
‘मई के अंत तक बेडों की संख्या 1 लाख’
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के कोविड-19 अस्पतालों में 78 हजार से अधिक बेड की व्यवस्था पर संतोष व्यक्त करते हुए गुरुवार को कहा कि इस महीने (मई) के अंत तक बेड की संख्या बढ़ाकर एक लाख की जानी चाहिए । मुख्यमंत्री योगी ने लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन की समीक्षा करते हुए कोविड चिकित्सालयों में कुल 78,033 बेड की व्यवस्था हो जाने पर संतोष व्यक्त किया।
लक्षणों के आधार पर दी गई सलाह
प्रमुख सचिव ने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप का लगातार उपयोग किया जा रहा है और स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से अब तक 26,512 लोगों को फोन किया जा चुका है। उनमें से 74 लोग संक्रमित निकले, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। कुल 42 लोग उपचार के बाद ठीक होकर घर चले गए हैं और 401 लोग आइसोलेशन केंद्र में हैं। प्रसाद ने बताया कि अब तक हॉटस्पाट और गैर-हॉटस्पॉट क्षेत्रों में 68 लाख 72 हजार 936 घरों में तीन करोड़ 43 लाख 80 हजार से अधिक लोगों का सर्वेक्षण किया गया है और उन्हें लक्षणों के आधार पर सलाह दी गई है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *