Unnao gang rape पीड़िता को एअरलिफ्ट कर सफदरजंग अस्पताल लाने की तैयारी

लखनऊ। लखनऊ के सिविस अस्पताल में भर्ती Unnao gang rape पीड़िता की हालत नाजुक होते जाने के कारण उसे अब एअरलिफ्ट कर दिल्ली लाया जाएगा जहां उसका बेहतर इलाज म‍िल सके। इसके ल‍िए लखनऊ पुलिस को ग्रीन कॉरिडोर बनाने में जुट गई है।
Unnao gang rape की हालत में सुधार ना देखते हुए सिविल अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे बेहतर इलाज के लिए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल भेजने का फैसला किया है जिसके बाद पीड़िता को दिल्ली लाने के लिए तैयारी शुरू हो गई है। अस्पताल से एयरपोर्ट तक जाने के लिए लखनऊ पुलिस को ग्रीन कॉरिडोर बनाने का निर्देश दिया गया है।

बता दें कि गुरुवार की तड़के सुबह उन्नाव में एक गैंगरेप पीड़िता अपने मुकदमे की तारीख पर रायबरेली के लिए ट्रेन पकड़ने जा रही थी। इस बीच गैंगरेप के दो आरोपियों ने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर पीड़िता पर हमला कर दिया। उन्होंने पहले पीड़िता पर लाठी, डंडे व चाकू से हमाला किया और फिर उस पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी। पीड़िता के चीखने चिल्लाने पर आसपास के लोगों मौके पर पहुंचे तो सभी आरोपी भाग निकले। पीड़िता को लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत नाजुत बनी हुई है।

90 फीसदी तक जल चुकी है गैंगरेप पीड़िता
लखनऊ के सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि पीड़िता 90 प्रतिशत तक आग में झुलसी है। उसकी हालत बेहद नाजुक है। बर्न यूनिट के डॉ. प्रदीप तिवारी पीड़िता का इलाज कर रहे हैं।

पांचों आरोपी हुए गिरफ्तार
घटना के तत्काल बाद पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी मुख्य आरोपी हैं जिन पर अगवा कर गैंगरेप का आरोप है। दोनों आरोपित जमानत पर छूटे थे। इनके अलावा पुलिस ने मुख्य आरोपियों की मदद करने वाले उमेश बाजपाई, हरिशंकर त्रिवेदी और राम किशोर त्रिवेदी को भी गिरफ्तार कर लिया है।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *