Unitech के एमडी संजय चंद्रा और अजय की जमानत अर्जी खारिज़

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने आज Unitech के एमडी संजय चंद्रा और और उनके भाई अजय चंद्रा की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। कोर्ट ने मकान खरीदारों की रकम कथित रूप से हड़पने के मामले में Unitech के एमडी संजय चंद्रा और अजय चंद्रा को जमानत देने से इंकार करते हुए कहा कि एमडी ने शीर्ष अदालत के 30 अक्टूबर, 2017 के आदेश का अनुपालन करते हुए 750 करोड़ रुपये अभी तक जमा नहीं कराये।

संजय और अजय मकान खरीदारों की रकम कथित रूप से हड़पने के मामले में 9 अगस्त 2017 से जेल में बंद हैं। न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की पीठ ने दोनों को जमानत देने से इंकार करते हुये कहा कि उन्होंने शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री में 750 करोड़ रूपए जमा कराने के उसके 30 अक्टूबर, 2017 के आदेश पर अभी तक अमल नहीं किया है।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली की तरह Unitech के फॉरेंसिक ऑडिट का आदेश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि ऑडिट होने तक कंपनी के प्रोमोटर संजय चंद्रा को जमानत नहीं मिलेगी।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले के लिए ऑडिटर नियुक्त करते हुए उसे 2006 से यूनिटेक की सभी 74 कंपनियों और उनकी सहायक कंपनियों के खातों की जांच करने का आदेश दिया था।

संजय चंद्रा और अजय चंद्रा ने जमानत पर रिहाई का अनुरोध करते हुये कहा था कि उन्होंने शीर्ष अदालत के आदेश पर अमल किया है और चार करोड़ रूपए से अधिक की राशि जमा करा दी है। इन दोनों के खिलाफ यूनिटेक की ‘‘वाइल्ड फ्लावर कंट्री’’ और ‘‘एंथिया प्रोजेक्ट’’ के 158 मकान खरीदारों ने 2015 में आपराधिक मामला दर्ज कराया था। ये दोनों पिछले करीब डेढ़ साल से तिहाड़ जेल में बंद हैं।

कौड़ी के भाव हुए शेयर

पिछले एक साल में कंपनी का शेयर धड़ाम हो चुका है। जनवरी से दिसंबर 2018 के बीच कंपनी के शेयर में 81.50 फीसद की गिरावट आई, जबकि सेक्टोरियल इंडेक्स करीब 35 फीसद तक टूटा।

2018 में सेंसेक्स 6.67 फीसद मजबूत हुआ। बुधवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में कंपनी का शेयर करीब एक फीसद की गिरावट के साथ 1.85 रुपये पर बंद हुआ।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »