केंद्रीय मंत्री का दावा, प्रियंका वाड्रा ने बंगला खाली न करने के लिए सिफारिश कराई

नई दिल्‍ली। गृह मंत्रालय ने 30 जून की एक चिट्ठी में प्रियंका गांधी वाड्रा से 35, लोधी एस्टेट सरकारी आवास को एक महीने के अंदर खाली करने को कहा था। प्रियंका ने तब कहा था कि वह तय समय में बंगला खाली कर देंगी।
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को अलॉट लोधी एस्‍टेट के बंगला नंबर 35 का विवाद गहरा गया है।
आज प्रियंका ने उन रिपोर्ट्स का खंडन किया जिसमें कहा गया है कि उन्‍होंने कुछ और दिन की मोहलत मांगी थी। प्रियंका ने कहा कि उन्‍होंने सरकार से ऐसी कोई दरख्‍वास्‍त नहीं की है। उन्‍होंने कहा कि वह सरकार के निर्देशानुसार 1 अगस्‍त तक सरकारी बंगला खाली कर देंगी।
प्रियंका के ट्वीट के बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने खुलासा किया उन्‍हें प्रियंका की पैरवी के लिए एक बड़े कांग्रेसी नेता का फोन आया था। उन्‍होंने कहा कि फोन करने वाले ने किसी और कांग्रेस सांसद के नाम बंगला अलॉट करने का कहा ताकि प्रियंका वहां रहना जारी रख सकें।
कौन सच बोल रहा, कौन झूठ?
दरअसल, न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस ने एक खबर छापी जिसमें कहा गया कि प्रियंका ने सरकारी बंगले में कुछ समय तक और रहने की इजाजत मांगी है।
रिपोर्ट में दावा किया गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह दरख्‍वास्‍त मान ली है। इस रिपोर्ट को प्रियंका ने ‘फेक न्‍यूज़’ करार दिया है। उन्‍होंने साफ कहा कि उनकी तरफ से ऐसी कोई रिक्‍वेस्‍ट सरकार से नहीं की गई है। केंद्रीय मंत्री का कहना है कि उन्‍हें 4 जुलाई की दोपहर 12 बजकर 5 मिनट पर एक ताकतवर कांग्रेसी नेता का फोन आया था। उन्‍होंने कहा, “मुझसे रिक्‍वेस्‍ट की गई कि 35, लोधी एस्‍टेट किसी और कांग्रेस सांसद को अलॉट कर दिया जाए ताकि प्रियंका वाड्रा वहां रह सकें।” पुरी ने प्रियंका को ताकीद करते हुए कहा कि ‘हर चीज को सेंशनलाइज मत कीजिए अन्‍यथा फोन करने वाले कांग्रेसी नेता का नाम सार्वजनिक भी किया जा सकता है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *