स्पॉट फिक्सिंग में पीसीबी की एंटी करप्शन यूनिट का Umar Akmal को समन

लाहौर। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की एंटी करप्शन यूनिट (ACU) ने पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी Umar Akmal को मैच फिक्सिंग मामले में समन जारी किया है। हाल में ही अकमल ने यह दावा किया था कि स्पॉट फिक्सिंग के लिए साल 2015 के विश्वकप और हांग-कांग सुपर सिंक्सेज, यूएई में खेली गई दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पाकिस्तान की सीरीज के दौरान सटोरिए ने उनसे संपर्क किया था। अकमल ने ये खुलासा एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल में किया जिसके चलते पीसीबी की एंटी करप्शन यूनिट ने उन्हें 27 जून को हाजिर होने के लिए कहा है।

अकमल ने हाल में ही पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल समा टीवी को दिए इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था कि साल 2015 के विश्वकप में भारत के खिलाफ दो डॉट बॉल खेलने के लिए उन्हें 2 लाख अमेरिकी डॉलर देने की पेशकश की गई थी। अकमल ने बताया कि साल 2012 में हांग-कांग सुपर सिक्सेज टूर्नामेंट के दौरान सटोरियो ने उनसे पहली बार संपर्क था तब अकमल अपने भाई कामरान अकमल की कप्तानी में खेल रहे थे। उसके बाद साल 2015 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान के मैच से पहले भी सटोरियों ने उनसे संपर्क किया था।

अकमल ने बताया कि, जब वो टीम में शामिल थे तब भारत के खिलाफ मैचों के दौरान सटोरियों ने स्पॉट फिक्सिंग के लिए उनसे कई बार संपर्क किया है। उन्होंने बताया कि मेरी मदद से कई सटोरिये पकड़े गए हैं और मुझे नहीं लगता कि मेरे अलावा किसी और खिलाड़ी ने पीसीबी को इतनी जानकारी दी होंगी।

Umar Akmal ने बताया, ‘हांग-कांग सुपर सिक्स सीरीज के दौरान हमारी टीम से जुड़ा हुआ ही एक अधिकारी रात के करीब 3 बजे मेरे कमरे में तब आया, जब मैंने कमरे के बाहर ‘डू नॉट डिस्टर्ब’ का बोर्ड लगाया हुआ था। उसने रात में ही मुझसे 5 मिनट के लिए जरूरी बात करने को कहा। मैंने उसे अपने कमरे में बुलाया तो उसने कहा कि वह पैसा दुनिया के किसी भी देश में मेरे अकाउंट में भेज देगा।’

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »