अयोध्‍या में उद्धव ठाकरे ने कहा- हम सब मिलकर राम मंदिर बनाएंगे, शिवसेना का कार्यक्रम अचानक बदला

उद्धव ठाकरे ने कहा- आज रात ही वापस लौट जाऐंगे शिवसैनिक, आज की सरकार सबसे ताकतवर सरकार है, मुझे राम मंदिर का श्रेय नहीं चाहिए,  मंदिर बनाने के लिए प्लानिंग चाहिए, सब साथ आएं तो जल्द बनेगा मंदिर, वादे पूरा करना ही हमारा हिन्दुत्व है, सोए हुए लोगों को जगाने आया हूं, राम के विचारधारा है.

उद्धव ठाकरे ने कहा- आज की सरकार सबसे ताकतवर सरकार है, मुझे राम मंदिर का श्रेय नहीं चाहिए
उद्धव ठाकरे ने कहा- आज की सरकार सबसे ताकतवर सरकार है, मुझे राम मंदिर का श्रेय नहीं चाहिए

अयोध्या। अयोध्या में धर्मसभा में शामिल होने के लिए शिवसेना प्रमुख कड़ी सुरक्षा के बीच आशीर्वाद और सम्मान समारोह में पहुंचे जहां उनके साथ पत्नी रश्मि और बेटा आदित्य भी मौजूद थे। कार्यक्रम स्थल पर हजारों की तादाद में शिवसैनिक और साधु-संत मौजूद रहे। उधर विहिप व संघ ने धर्मसभा को सफल बनाने के लिए ताकत झोंक दी है।

कल शुक्रवार को लखनऊ एयरपोर्ट पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने संघ प्रतिनिधियों से मंत्रणा कर धर्मसभा को सफल बनाने का संदेश दिया। दूसरी ओर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को अयोध्या के ताजा घटनाक्रम का संज्ञान लेना चाहिए।

शिवसेना का कार्यक्रम में अचानक बदलाव से पहले ये था कार्यक्रम

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या में दो दिन रहेंगे। वह शनिवार को लक्ष्मण किला पहुंचकर, वहां आयोजित आशीर्वाद समारोह में शिरकत करेंगे। माना जा रहा है कि इस बहाने शिवसेना प्रमुख राम मंदिर निर्माण में देरी पर भाजपा को घेर सकते हैं। उद्धव समय-समय पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को भी निशाने पर लेते रहे हैं। समारोह में अयोध्या के संत-महंत व शीर्ष धर्माचार्य शिवसेना प्रमुख ठाकरे को आशीर्वाद देंगे।

इससे पूर्व शिवसेना सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को अयोध्या में कहा था कि हमने 17 मिनट में बाबरी मस्जिद तोड़ी थी, तो कानून बनाने में कितना वक्त लगेगा? वहीं, उत्तरप्रदेश के सलेमपुर से भाजपा सांसद रविंद्र कुशवाहा ने दावा किया है कि अगले संसद सत्र में सरकार राम मंदिर निर्माण के लिए बिल लेकर आएगी। हालांकि, उनके इस बयान पर भाजपा या सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। अयोध्या में 25 नवंबर को विश्व हिंदू परिषद ने धर्म सभा बुलाई है। इसमें देशभर के साधु-संत हिस्सा ले रहे हैं।

संसद में बहुत से ऐसे सांसद, जो राम मंदिर के मुद्दे पर साथ हैं- राउत
राउत ने कहा- राष्ट्रपति भवन से लेकर उत्तर प्रदेश तक भाजपा की सरकार है। राज्यसभा में ऐसे बहुत सांसद हैं, जो राम मंदिर मुद्दे के पक्ष में खड़े रहेंगे। जो विरोध करेगा, उसका देश में घूमना मुश्किल हो जाएगा। 25 नवंबर को होने वाले धर्म सभा कार्यक्रम में शिवसेना के शामिल नहीं होने पर राउत ने कहा- विहिप और संघ से हमारा कोई टकराव नहीं है। धर्म सभा की पहले जानकारी होती तो साथ कार्यक्रम करते। विहिप और शिवसेना के कार्यक्रम में कोई फर्क नहीं है, बस तारीख में अंतर है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »