KPL फिक्सिंग केस में दो क्रिकेटर और गिरफ्तार

बेंगलुरु। KPL (कर्नाटक प्रीमियर लीग) में हुई फिक्सिंग को लेकर दो और क्रिकेटर्स की गिरफ्तारी हुई है। सेंट्रल क्राइम ब्रांच (जो पिछले दो सीजन में हुई फिक्सिंग के मामलों की जांच कर रही है) द्वारा गिरफ्तार किए गए दो क्रिकेटर फ्रैंचाइजी बेल्लारी से हैं और उनके नाम- सीएम गौतम और अबरार काजी है। गौतम टीम के कप्तान है जबकि काजी विकेट कीपर बल्लेबाज। इन्हें केपीएल में फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी इस मामले में 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। पहले फ्रैंचाइजी ब्रेंगलुरु ब्लास्टर्स के गेंदबाजी कोच विनू प्रसाद और बल्लेबाज विश्वनाथ को 26 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। कोच पर आरोप है कि उसने सट्टेबाजों के साथ मिलकर बेलागवि पैंथर्स के खिलाफ खेले गए एक मैच को फिक्स किया था।
स्लो बैटिंग के लिए लिए थे 20 लाख
संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) संदीप पाटिल ने ने इस बारे में कहा, ‘हमनें दो क्रिकेटरों को गिरफ्तार किया है। उन पर KPL के दौरान मैच फिक्सिंग के आरोप हैं।’ जांच में शामिल एक अधिकारी ने बताया उन्हें स्लो बैटिंग केलिए 20 लाख रुपये सहित कई चीजे मिली थीं। इसके अलावा उन लोगों ने बेंगलुरु के खिलाफ मैच भी फिक्स किया था।
उल्लखेनीय है कि गिरफ्तार किए गए क्रिकेटर गौतम और काची घरेलू टूर्नामेंट के अलावा आईपीएल भी खेल चुके हैं।
आईपीएल की बड़ी टीमों के लिए खेला है
आरोपी गौतम घरेलू क्रिकेटर में पहले KPL के लिए खेलता था लेकिन इस सीजन के लिए गोवा से जुड़ा है। वह आईपीएल में आरसीबी, मुंबई इंडियंस और दिल्ली डेयरडेविल्स (जो अब दिल्ली कैपिटल्स है) जैसी बड़ी टीमों के लिए खेल चुका है। दूसरी ओर काजी मिजोरम टीम से खेलता है। दोनों क्रिकेटरों का नाम अपनी-अपनी राज्य टीम का हिस्सा भी थे, जिन्हें शुक्रवार से शुरू हो रहे सैयद मुश्तक अली ट्रोफी में खेलना था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »