Twitter ने 2 महीनों में 7 करोड़ फेक अकाउंट्स सस्पेंड किए

नई दिल्‍ली। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Twitter ने पिछले दो महीनों में 7 करोड़ अकाउंट्स को सस्पेंड किया है। यह कार्रवाई ट्रोल्स को हटाने के लिए की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ट्विटर ने यह कार्रवाई मई और जून महीने में की है।

चीनी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की मानें तो फेक अकाउंट्स की वजह से अमेरिका के स्थानीय चुनाव के प्रभावित होने की संभावना है। इसके अलावा राजनीतिक दबाव के बाद फेक अकाउंट्स को बंद किया गया। वहीं, ट्विटर के सूत्रों ने वॉशिंगटन पोस्ट को बताया कि विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्क साइट्स में से एक ट्विटर ने स्पैम और फेक अकाउंट्स को बंद करने के लिए यह बड़ी कार्रवाई की।

पोस्ट की रिपोर्ट की मानें तो गैरजरूरी अकाउंट्स को डिलीट करने को लेकर उठाए गए Twitter के कदमों का असर यूजर्स की संख्या पर पड़ सकता है। माना जा रहा है कि ये संख्या दूसरे क्वार्टर में कम हो सकती है।

इससे पहले पिछले महीने ट्विटर ने ट्रोल्स, दुर्व्यवहार और हिंसक अतिवाद पर नई नीतियों के बनाने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि हम स्पैम और दुर्व्यवहार से लड़ने के लिए नई तकनीक और कर्मचारियों को ला रहे हैं।

जून में लिखे गए अपने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में ट्विटर के ट्रस्ट एंड सेफ्टी के वाइस प्रेसिडेंट डेल हार्वे ने लिखा था कि ट्विटर पर बातचीत में सुधार करने पर फोकस करने का मतलब है कि लोगों को Twitter पर विश्वसनीय, प्रासंगिक और उच्च गुणवत्ता वाली जानकारी मिल सके।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »